हल्द्वानी: स्कूल वैन में मासूम से दुष्कर्म के प्रयास के मामले में हलद्वानी कोतवाली पुलिस ने केवीएम स्कूल प्रबंधन के खिलाफ खिलाफ पाक्सो और जेजे एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर एसआईटी जाॅच शुरू कर दी है। आरोप है की स्कूल प्रबंधन ने सुरक्षा के मानकों का उल्लंघन किया और इस घटना को छुपाने का प्रयास किया, जिसके चलते जांच में स्कूल प्रबंधन को आरोपी माना गया है।

मामला 20 सितम्बर का है जब हल्द्वानी कोतवाली के काठगोदाम थाना क्षेत्र में एक नाबालिग बच्ची के साथ दुष्कर्म के प्रयास का मामला सामने आया था, दरअसल शहर के एक निजी स्कूल में पढ़ने वाली साढ़े 3 साल की छात्रा के साथ दुष्कर्म के प्रयास का मामला दर्ज कराने छात्रा के परिजन नहीं बल्कि कुछ सामाजिक कार्यकर्ता पहुंचे। जब मामले में पुलिस ने पूछताछ की तो पता चला की छात्रा के परिजन बच्ची के साथ अनहोनी होने की आशंका के चलते निजी अस्पताल में बच्ची को चेकअप के लिए लाए थे।

जहाँ निजी अस्पताल के मेडिकल करने के दौरान बच्ची के साथ दुष्कर्म के प्रयास को सही पाया , लेकिन बच्ची के परिजनों ने थाने में रिपोर्ट दर्ज नहीं की। जिसके बाद जागरूक लोगों ने घटनाक्रम की जानकारी पुलिस को देते हुए नाबालिक छात्रा के साथ हुए दुष्कर्म के प्रयास को समाज की दृष्टि से गंभीर बताते हुए काठगोदाम थाने में मामला दर्ज कराया। इस मामले में पुलिस ने पहले ही स्कूल वैन के ड्राइवर और कंडक्टर को गिरफ्तार कर लिया है।हाईकोर्ट के निर्देश मिलते ही हल्द्वानी पुलिस ने केवीएम स्कूल प्रबन्धन के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए एसआईटी गठित कर जाॅच शुरू कर दी है।

वहीं घटना के सामने आने के बाद स्कूल बंद है। इस मामले में अभिभावकों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर स्कूल खुलवाने की मांग रखी। अभिभावकों की मानें तो स्कूल बंद रहने से छात्रों की पढ़ाई में नुकसान हो रहा है। इसके अलावा उन्होंने दोषियों के खिलाफ सख्त सजा की भी मांग रखी।