उत्तराखंड में अब कोई पाबंदी नहीं, साहसिक पर्यटन गतिविधियां भी हरी झंडी

सभी पर्यटकों के लिए वाटर स्पोर्ट्स, ट्रेकिंग और पर्वतारोहण, एयरोस्पोर्ट्स और कैम्पिंग गतिविधियों जैसे एडवेंचर संबंधित गतिविधियों को खोलने की अनुमति दे दी है।

देहरादून: राज्य में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए लगातार फैसले लिए जा रहे हैं। उत्तराखंड पहुंचने वाले सैलानियों को लगभग पूर्ण तरह से छूट दे दी गई है। इसी क्रम में एक बड़ा फैसला पर्यटन मंत्रालय उत्तराखंड की ओर से लिया गया है। राज्य में अब सभी पर्यटकों के लिए वाटर स्पोर्ट्स, ट्रेकिंग और पर्वतारोहण, एयरोस्पोर्ट्स और कैम्पिंग गतिविधियों जैसे एडवेंचर संबंधित गतिविधियों को खोलने की अनुमति दे दी है। इसके साथ ही उत्तराखंड सरकार ने पर्यटकों और एडवेंचर एजेंसियों के लिए दिशानिर्देश भी जारी किए हैं। पर्यटकों के लिए काफी अच्छी खबर है क्योंकि इस तरह की गतिविधियों से जुड़ने के लिए राज्य में हजारों की तादत में लोग पहुंचते हैं। उम्मीद की जा रही है कि विभाग का ये कदम राज्य के गिरते आर्थिक ग्राफ को बढ़ाएगा।

यह भी पढ़ें:हरियाणा समेत 5 राज्यों में दौड़ेंगी उत्तराखंड की बसें,सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दी मंजूरी

नए मानदंडों पर नजर डाले तो एजेंसी, एडवेंचर टूर ऑपरेटर के प्रमुख पर्यटन विभाग और संबंधित जिला प्रशासन के कार्यालयों में एडवेंचर गतिविधियों के संचालन के लिए आवश्यक अनुमति हेतु अंडरटेकिंग पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं। एडवेंचर कंपनी, जैसे टूर ऑपरेटर के मालिकों को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनके कर्मचारियों ने कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए उचित रूप से प्रशिक्षित है। सभी कार्य कोरोना वायरस से बचने के बनाए गए नियमों के अनुसार ही किए जाएंगे। जैसे थर्मल स्क्रीनिंग, सामाजिक दूरी, मास्क शील्ड द्वारा चेहरे को ढंकना और लगातार हाथ धोने जैसे आवश्यक नियमों का पालन अनिवार्य होगा।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:संक्रमित को डेढ़ लाख रुपए दे रही है सरकार, अफवाह से परेशान प्रशासन

जिला प्रशासन को जिम्मेदारी दी गई है कि एडवेंचर गतिविधियों के सुचारू संचालन हेतु एक निगरानी टीम का गठन करेगा। पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने कहा एडवेंचर टूरिज्म का राज्य के समग्र पर्यटन उद्योग में एक बड़ा योगदान है। हमे विश्वास है की एडवेंचर गतिविधियों को फिर से खोलने से राज्य पर्यटन उद्योग को बड़ा फायदा मिलेगा। हम सभी से पूर्ण सहयोग की उम्मीद करते हैं। उन्हें एक टीम के रूप में हमारे साथ काम करना होगा और राज्य में महामारी के प्रसार को नियंत्रित करने के लिए नियमों और दिशानिर्देशों का प्रभावी कार्यान्वयन सुनिश्चित करना होगा। एमओएचएफ, जीओआई और राज्य सरकार के दिशा-निर्देशों के अनुसार, एजेंसी एडवेंचर गतिविधियों में उपयोग किए जाने वाले उपकरणों के उचित सफाई को भी सुनिश्चित करेगी। एडवेंचर गतिविधियों के दौरान, यदि कोई कोविड -19 संक्रमण के लक्षण दिखाता है तो तुरंत नजदीकी स्वस्थ केंद्र को सूचित करना होगा।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now