नई दिल्ली:
कोरोना वायरस के चलते पूरा देश परेशान है। बचाव के सभी प्रयास किए जा रहे हैं। सुरक्षा के लिहाज से देश में आवाजाही को रोक दिया है। कई राज्यों ने लॉक डाउन का फैसला किया है। कल से घरेलू विमानों की उड़ानों को भी रद्द कर दिया है। 31 मार्च तक ट्रेन भी रद्द हैं। डॉक्टरस, पुलिसकर्मी और मीडियाकर्मी लोगों की सुरक्षा को लेकर अपनी ड्यूटी पर हैं, जिन्हें देश सलाम कर रहा है। कोरोना वायरस को लेकर सोशल मीडिया पर अफवाह भी उड़ाई जा रही है और उसका शिकार बनी है एयरहोस्टेज अमृता साह। अमृता शाह को लेकर उनकी सोसाइटी में एक अफवाह फैला दी गई कि वो कोरोना वायरस की चपेट में हैं और बात को छीपा रही है। वह अपनी मां के साथ रहती हैं। काम को लेकर वह बाहर रहती हैं। इस अफवाह ने उनके परिवार को परेशान कर दिया है और पड़ोस के लोग मां को धमकी देने के लिए घर पर पहुंच रहे हैं।

Marking safe from the bunch HYPOCRITES AROUND. Guys There r Bunch of educated ASSHOLES staying in my locality and spreading rumors that since I am a part of Service Industry and flying In &Out even in this Lockdown situation is infected with COVID-19 (corona). And harassing my Mother like anything by calling police n local Gundas threatening my mother that IF UR DAUGHTER DOESN'T STOP FLYING WE ALL WILL BOYCOTT YOU AND YOUR DAUGHTER FROM THIS LOCALITY. This not the end Even when my mother going to the market to buy groceries they r refusing to serve her saying UR INFECTED TOO BCZ UR DAUGHTER IS SUFFERING FROM CORONA. What Government have to say now on these kind of educated ASSHOLES. Plzzzz Help 🙏🏼🙏🏼😓😓

Gepostet von Amrita Saha am Sonntag, 22. März 2020

इस वाक्ये के बारे में अमृता ने फेसबुक पर वीडियो डाला है। उन्होंने कहा कि वो अपने काम को समझती हैं। जिस सर्विस पर हम हैं वहां पर कंपनी द्वारा पूरा ध्यान दिया जाता है। हम सभी के टेस्ट पहले ही हो गए है लेकिन अफवाह के चलते मेरे परिवार को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। उन्होंने प्रशासन से मदद की गुहार लगाई है। बता दें कि अमृता शाह अपने परिवार के साथ कोलकाता में रहती हैं। उन्होंने अपनी पढ़ाई उत्तराखंड जिला चंपावत से की है। इस वीडियो को काफी लोग शेयर कर रहे हैं और उनके परिवार को धमकी देने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग कर रहे हैं।