विजय हजारे ट्रॉफी से उत्तराखण्ड बाहर, चंडीगढ़ ने दो विकेट से हराया

हल्द्वानी: लगातार दूसरी बार उत्तराखण्ड की टीम विजय हजारे में क्वालीफाई करने में नाकामयाब रही। अंतिम लीग मैच में उसे चंडीगढ़ ने दो विकेट से हराया। प्लेट ग्रुप से पुडुचेरी ने नॉक आउट के लिए क्वालीफाई किया। 17 तारीख को उत्तराखण्ड और पुडुचेरी के मुकाबलों पर सभी की नजरे थी। उत्तराखण्ड के फैंस पुडुचेरी की हार और अपनी टीम के विजय की प्रार्थना कर रहे थे। गुरुवार को अभिमन्यु क्रिकेट ऐकेडमी में असम और पुदुचेरी के बीच मुकाबला खेला गया। जिसमें असम ने पहले खेलते हुए कमजोर शुरुआत के चलते 36.1 ओवर में सभी विकेट खोकर 115 रन बनाए।

टीम के लिए पीपी दास ने सर्वाधिक 27 व सिबसंकर राय ने 24, जी शर्मा ने 19 व पुरकायस्थ ने 14 रनों की पारी खेली। टीम के सात खिलाड़ी दहाई का अंक तक नहीं पार कर सके। पुदुचेरी के लिए अशिथ सांगनाकाल ने चार, सुरेश कुमार व सागर उपदेशी ने दो-दो विकेट चटकाए। 116 रनों के आसान विजय लक्ष्य का पीछा करने उतरी पुदुचेरी ने 22 ओवर में ही 116 रन बनाकर मुकाबले को पांच विकेट से जीत लिया। टीम के लिए पारस डोगरा ने 44, विनय कुमार ने 17 व अरुण कार्तिक ने 15 रनों की पारी खेली। असम के लिए प्रीतम दास ने दो विकेट चटकाए। इस जीत के साथ पुदुचेरी ने नॉकआउट के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया।

चंडीगढ़ के खिलाफ शॉर्ट खेलते अवनीश सुधा

वहीं दूसरी ओर गुरुवार को उत्तराखण्ड सौरभ रावत की कप्तानी में मैदान पर उतरी। उत्तराखंड की शुरुआत बेहद खराब रही। सलामी बल्लेबाज करनवीर कौशल बिना खाता खोले पवेलियन लौट गए। इसके बाद तनुष गुसाई 10 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। संकट में लग रही उत्तराखण्ड को फॉर्म में चल रहे तन्मय श्रीवास्तव व अवनीष सुधा ने उभारा। दोनों के बीच तीसरे विकेट के लिए 141 रनों की साझेदारी हुई। चंडीगढ़ के गेंदबाजों के पास दोनों को रोकने का कोई उपाय नहीं था लेकिन आपस में तालमेल की कमी ने इस साझेदारी को तोड़ दिया। अवनीष सुधा 78 रन पर आउट हुए।

अवनीश सुधा और तन्मय श्रीवास्तव

वहीं तन्मय श्रीवास्तव ने शानदार 102 रनों की पारी खेली। उत्तराखण्ड के लिए उनका यह पहला शतक था। चंडीगढ़ की ओर से गेंदबाजी में सरनदीप सिंह ने चार विकेट चटकाए। चंडीगढ़ की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही थी।  अर्जुन आजाद 12 व मनन वोहरा 09 जल्द पवेलियन लौट गए। इसके बाद उदय कौल व गौरव ने शानदार साझेदारी की। गौरव ने 45 रन बनाए। इसके बाद उदय कौल 102 रन की शतकीय पारी खेल कर पवेलियन लौटे। निचले क्रम में अर्पित गुरप्रीत 23 व श्रेष्ठ की नाबाद 17 रनों की पारी के दम पर चंडीगढ़ ने 49 ओवर में 254 रन बनाकर मुकाबले को दो विकेट से जीत लिया। उत्तराखंड के लिए धनराज ने चार व राहिल शाह ने दो विकेट चटकाए। बता दें कि पिछले एक साल में उत्तराखण्ड की विजय हजारे में पहली हार है।

नाबाद शतक बनाने के बाद पवेलियन लौटते तन्मय श्रीवास्तव