हरियाणा समेत 5 राज्यों में दौड़ेंगी उत्तराखंड की बसें,सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दी मंजूरी

उत्तराखंड कैबिनेट बैठक खत्म,बस का किराया दोगुना हुआ... पूरी खबरें पढ़ें

देहरादून: देऱ रात एक फैसला लिया गया है। उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश के लिए उत्तराखंड की बसें सेवा देगी। शुक्रवार रात को सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत की ओर से मंजूरी दे दी गई है। फिलहाल सभी राज्यों में 100-100 बसों का संचालन किया जाएगा और वहां की भी 100 बसें उत्तराखंड में चलेगी। इसे लेकर लंबे वक्त से लोग इंतजार कर रहे थे और सरकार मंथन कर रही थी। किस तरह से बसों का संचालन होगा और किन नियमों के साथ होगा, इसे लेकर SOP जल्द जारी कर दी जाएगी। आगे पढ़ें…

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड:संक्रमित को डेढ़ लाख रुपए दे रही है सरकार, अफवाह से परेशान प्रशासन

मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो शुक्रवार देर रात मंजूरी दे दी गई है। परिवहन विभाग की ओर से फाइल मुख्य सचिव को भेज दी गई थी, लेकिन इसमें कुछ शर्तों को देखते हुए फाइल मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के पास भेज दिया गया था। मुख्यमंत्री ने इसमें स्वास्थ्य विभाग से भी राय मांगी थी। मुख्यमंत्री ने विचार-विर्मश के बाद देर रात फाइल अनुमोदित कर दी। जैसा की उत्तराखंड में एंट्री करने वालों के लिए पंजीकरण नियम को लागू किया गया है। दूसरे राज्यों के लिए बसों के संचालन होने से पंजीकरण प्रक्रिया कैसे होगी इसे लेकर मंथन चल रहा था। आगे पढ़ें…

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में जल्द होगी क्रिकेट की वापसी, 126 खिलाड़ियों को कंडिशनिंग कैंप में मिली जगह

मौजूदा व्यवस्था में प्रदेश की सीमाओं पर बाहरी यात्रियों का पंजीकरण चेक किया जाता है। इसके साथ ही यात्री कितने दिन के लिए आ रहे हैं और उनके होम क्वारंटाइन आदि की क्या स्थिति है, यह सीमा पर देखी जाती है। रोडवेज के संचालन के बाद यह जांच करना बिल्कुल भी आसान नहीं होगा। आगे पढ़ें…

कहा जा रहा है कि इसके लिए बस अड्डों पर प्रशासन की टीम तैनात की जाएगी जैसा रेलवे स्टेशन या हवाई अड्डे पर किया जा रहा है। इस पर व्यवस्था बनाने के आदेश के बाद मुख्यमंत्री ने शुक्रवार देर रात बसों के संचालन की मंजूरी दी है। अपर सचिव परिवहन रणवीर सिंह चौहान ने कहा कि अब बसों के संचालन हेतु नियम व पूर्ण SOP जल्द जारी होगी। उत्तर प्रदेश, हरियाणा, हिमाचल, राजस्थान और पंजाब के साथ 100-100 बसों को परस्पर संचालन की अनुमति दी गयी है।

यह भी पढ़ें: संसद में पेश हुए आंकड़े, उत्तराखंड का घोड़ाखाल सैनिक स्कूल देश में नंबर वन

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now