कोरोना कहर: इंटरनेशनल प्लाइट कैंसल होने से विदेश में फंस गए उत्तराखंड के युवक

देहरादून: कोरोना वायरस के चलते हुए लॉकडाउन में कई लोग विदेश में फंस गए हैं। ताजा जानकारी के अनुसार इस लिस्ट में दो युवक उत्तराखंड के हैं। जिनके अभिभावकों के केंद्र सरकार से मदद की गुहार लगाई है। देहरादून निवासी सौरभ सैनी इंग्लैंड में कई दिनों से फंसा हुए हैं। उनकी फ्लाइट कैंसल हो गई है। बेटे की चिंता परिवार को सता रही है। सौरभ के परिजनों ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से मदद की गुहार लगाई है। दीपनगर निवासी सौरभ के पिता जय सिंह का कहना है कि सौरभ पढ़ाई करने इंग्लैंड गया था। 18 मार्च को उसका अंतिम पेपर था। 19 तारीख को उसकी फ्लाइट बुक थी, लेकिन कोरोना वायरस के कारण फ्लाइट को कैंसिल कर दिया।

इसके बाद सौरभ और उसके दोस्तों ने कॉलेज के हॉस्टल में रुकने के लिए कहा तो उन्होंने मना कर दिया। बच्चों को सुरक्षित स्थान तक नहीं मिल सका। सौरभ और उसके कई दोस्तों ने भारतीय दूतावास से संपर्क किया, लेकिन अभी मदद नहीं मिल सकी है। उन्हें दूतावास में एक कमरे में बंद करके रखा गया है।  जय सिंह ने बताया कि उन्होंने मुख्यमंत्री को मदद के लिए पत्र भेजा है। साथ ही विदेश मंत्रालय को भी फैक्स किया है। उन्होंने सौरभ और उसके साथियों की जल्द से जल्द घर वापसी की मांग की है।

कोरोना वायरस के चलते देहरादून निवासी अंकित थापा बार्सिलोना में फंसे हुए हैं। अंकित का एक वीडियो सोशल साइट्स पर खूब वायरल हो रहा है।  वीडियो में अंकित और उनके साथी मदद की गुहार लगा रहे हैं। अंकित ने कहा कि वह मर्चेंट नेवी में काम करते हैं। कोरोना वायरस के चलते उनकी कंपनी ने उन्हें व उनके दोस्तों को एक होटल में छोड़ दिया है। यहां उन्हें कोई मदद नहीं मिल पा रही है। वीडियो में उन्होंने सरकार से मदद की गुहार लगाई है।