हल्द्वानी: कोरोनावायरस को लेकर देशभर में हाहाकार मचा हुआ है। WHO ने इसे महामारी घोषित कर दिया है। पूरे विश्व की नजर इस वायरस का तोड़ खोजने में लगी हुई है। इसी बीच उत्तराखंड में सरकार ने वायरस से बचने के लिए अर्लट जारी किया है। बच्चों की सुरक्षा को देखते हुए सरकार ने प्रदेश के 12 वीं तक के सभी सरकारी और प्राईवेट स्कूलों को 31 मार्च तक बंद रखने का फैसला किया है। इस दौरान केवल बोर्ड परीक्षाएं जारी रहेंगी।जबकि सभी स्कूल बंद रहेंगे। उत्तराखंड से पहले दिल्ली और हरियाणा सरकार ने भी सभी स्कूलों, कॉलेजों, सिनेमा हॉल को बंद करने का निर्णय लिया है। 

उत्तराखंड में गुरुवार शाम को उत्तराखंड के शिक्षा सचिव मीनाक्षी सुंदरम ने सभी स्कूलों को बंद करने के आदेश जारी कर दिए हैं। वहीं, सरकार शुक्रवार को वायरस से सावधानियों को लेकर कई बड़े फैसले कर सकती है।  बता दें कि देश में 74 कोरोना वायरस के मरीजों की पुष्टि हो चुकी है। 

कोरोनावायरस को लेकर उत्तराखंड में भी लोग परेशान है। सैलानियों से राज्य से मुंह मोड़ दिया है। चैकअप के लेकर हॉस्पिटल में लाइन देखने को मिल रही है। बता दें कि कोरोना वायरस की वजह से सबसे ज्यादा प्रभावित वृद्ध लोग हो रहे हैं। 80 साल से ज्यादा उम्र के लोग जो इस वायरस का शिकार हुए हैं उन में से 14.8 प्रतिशत लोगों की मौत हो गई है। 70 से 79 के उम्र के बीच Mortality रेट 8 प्रतिशत है, 60-69 के उम्र के बीच Mortality रेट 3.6 प्रतिशत है , 50 से 59 के बीच 1.3 प्रतिशत, 40 से 49 के बीच 0.4 प्रतिशत, 10 से 39 के बीच 0.2 प्रतिशत Mortality रेट है जबकि 0 से 9 के बीच अब किसी भी बच्चों की मौत नहीं हुई है। Confirmed केस में पुरुषों में मोर्टेलिटी रेट 4.7 प्रतिशत है जबकि महिलाओं में 2.8 प्रतिशत है. जो लोग हार्ट के पेशेंट हैं उनके अंदर मोर्टेलिटी रेट 13.2 प्रतिशत है,डायबेटिक्स रोगी के अंदर मोर्टेलिटी रेट 9.2 प्रतिशत है, हाइपरटेंशन रोगियों के बीच मोर्टेलिटी रेट 8.4 प्रतिशत है, कैंसर पीड़ित रोगियों के बीच मोर्टेलिटी रेट 7.6 प्रतिशत है ।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now