उत्तराखंड की ऐसी नगर पालिका जो नए सामान को पुराना कर भर रही है अपनी जेब

93

देहरादूनः उत्तराखंड में कई ऐसी नगर पालिका है जहाँ लाखों का सामान खरीदा जाता है। जिसके साथ नगर पालिका का सुंदरीकरण कराया जाता है।और शायद ही कोई ऐसी पालिका हो जो लाखों का सामान पुराना करके बेचती हो पर उत्तराखंड में ही एक ऐसी पालिका है जो ये काम करती हो । उत्तराखंड की सबसे छोटी नगर पालिका कही जाने वाली पौड़ी गढ़वाल की नगर पालिका दुगड्डा में जनता की कमाई का खूब माजाक बनाया जा रहा है। लाखों रुपये की लागत से सफ़ाई व्यवस्था और कूड़े के डिस्पोज़ल के लिए सामान तो ख़रीद लिया गया लेकिन अब खुले में पड़े-पड़े वह जंग खा रहा है। जिसके बहाने पालिका ने सामान कबाड़ में बेचने का बहाना तैयार किया है।दुगड्डा की नगर पालिका ने कूड़े के निस्तारण के लिए लाखों रुपये की लागत से कॉम्पेक्टर और कम्पोस्टर मशीनें खरीदी थीं लेकिन इन मशीनों का एक बार भी इस्तमार नहीं किया गया है। नगर पालिका में कई मशीनें ऐसी भी है जिनकी अभी तक पैकिंग भी नहीं खोली गई है। अधिकारियों का कहना है कि ट्रेंचिंग ग्राउंड मिलने पर ही इन मशीनों को इंस्टॉल किया जा सकेगा पर ट्रेंचिंग ग्राउंड कब मिलेगा इसकी कोई जानकारी अधिकारियों को ही नहीं है। इतना ही नहीं यात्रियों को सुविधा देने के नाम पर बायो टॉयलेट और लाखों रुपये के दूसरे भी सामान खरीदे गये लेकिन कार्य में कुछ भी नहीं लिया गया । यह सामान पालिका की छत की शोभा बढ़ांता दिख रहा है। जिसमें से कई सामान में जंग भी लग गया है ।पालिका की लापरवाही और बेफिजूल खर्ची को लेकर लोगों में ख़ासी नाराज़गी है। लोगों का कहना है कि सरकार इस ओर ध्यान नही देती जिसके चलते पालिका में अधिकारी पैसों को आपस में बांट लेते है। स्थानीय नागरिकों के अनुसार ऐसा पहले नगर पालिका ने ट्रक ख़रीदे थे इस्तेमाल न होने की वजह से वह भी कबाड़ हो गए और अंत में कबाड़ में ही बेचे गये ।