उत्तराखंड में इस दिन हो सकते हैं उपप्रधानों के चुनाव, जल्द जारी होगी अधिसूचना

देहरादूनः उत्तराखंड में उपप्रधानों के चुनाव होने हैं। हरिद्वार को छोड़कर राज्य के 12 जिलों में इसी महीने के आखिर में उपप्रधानों के चुनाव होने वाले हैं। राज्य निर्वाचन आयोग ने तैयारी कर ली है। इस संबंध में एक प्रस्तावित कार्यक्रम शासन को भेजा गया है। जिस पर मंथन चल रहा है। उम्मीद है प्रस्ताव को एक-दो दिन के अंदर शासन की हरी झंडी मिल जाएगी। इसके बाद चुनाव की अधिसूचना जारी की जाएगी।

बता दें कि उपप्रधानों के चुनाव इसी महीने के आखिर में हो सकते हैं। त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में सामान्य निर्वाचन और उपनिर्वाचन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। सूबे की 7485 ग्राम पंचायतों में से 7283 में पंचायतों का गठन हो चुका है। पंचायतों को प्रधान मिल गए हैं और अब उपप्रधान चुने जाने हैं। वहीं निर्वाचन आयोग मौसम पर भी नजर बनाए हुए है। अगर बारिश-बर्फबारी जारी रही तो उपप्रधानों के चुनाव फरवरी तक कराए जा सकते हैं। जहां-जहां अभी तक पंचायतों का गठन नहीं हो पाया है, वहां भी चुनाव कराए जाएंगे।

पिछले साल अक्टूबर में राज्य के 12 जिलों में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव हुए थे। इसमें से 202 ग्राम पंचायतें ऐसी हैं, जहां अब तक पंचायत का गठन नहीं हो सका है।अल्मोड़ा में 61, पौड़ी में 61, चमोली में 18, बागेश्वर में 17, टिहरी में 16 और रुद्रप्रयाग में 12 पंचायतों का गठन नहीं हुआ है। इसी तरह पिथौरागढ़ में भी 11, ऊधमसिंहनगर में 10, नैनीताल में 08, चंपावत में 07, उत्तरकाशी में 05 और देहरादून में 02 पंचायतों का गठन नहीं हो सका है। पंचायतीराज विभाग ने संबंधित जिलों से उन ग्राम पंचायतों का ब्योरा मांगा है।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now