पिथौरागढ़ में सामने आया तीन तलाक का मामला, संतान ना होने पर पति ने दिया तलाक

max face clinic haldwani

हल्द्वानी: कानून बनाने के बाद पिथौरागढ़ से पहला तीन तलाक का मामला सामने आया है। सोमवार को महिला के पति, सास और जेठ के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। महिला का आरोप है कि संतान ना होने पर उसके ससुराल वाले उसे प्रताडित करते थे।

खबर के अनुसार सोमवार को सिनेमा लाइन की रहनी वाली महिला कोतवाली पहुंची और केस दर्ज कराया। उसने अपनी रिपोर्ट में कहा कि साल 2012 में उसका निकाह शाहिद मियां के साथ हुआ था। शादी के 7 साल के बाद भी उनकी कोई संतान नही है। इस वजह से ससुराल पक्ष उसके साथ अच्छा व्यवहार नहीं करता है। महिला ने अपनी रिपोर्ट में उसे प्रताड़ित करने और क्रूरता की शिकायत की है। महिला ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि उसका निकाह 8 नवंबर 2012 को शाहिद मियां के साथ हुआ था। उसकी अभी तक कोई संतान नहीं है। औलाद नहीं होने से पति उसके साथ मारपीट करता है और जेठ भी ताने देता है। इसके अलावा शाहिद की दूसरी शादी की धमकी दी जाती थी। पीडित ने बताया कि इसके चलते पति ने उसे तीन तलाक दे दिया है।

महिला की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने महिला के पति शाहिद मियां, सास समर जहां और जेठ मुजाहिद मियां के खिलाफ मुस्लिम महिला वैवाहिक संरक्षण अधिनियम 2019 एवं घरेलू हिसा के तहत 489 भादवि के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल ओपी शर्मा ने बताया कि अब मामले की जांच की जा रही है। पुलिस जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तार कर लेगी। होगी। पुलिस ने बताया कि यह परिवार मूल रूप से पीलीभीत उत्तर प्रदेश का रहने वाला है विगत कई वर्षो से पिथौरागढ़ में रह रहा है।