ब्रेकिंग न्यूज: उत्तराखण्ड की पूर्व DGP कंचन चौधरी का निधन

देहरादून: देश की दूसरी आईपीएस महिला अधिकारी कंचन चौधरी भट्टाचार्या अब इस दुनिया में नहीं रही। उनके निधन के बारे में उत्तराखण्ड पुलिस ने अपने अधिकारिक फेसबुक पेज के जरिए बताया। बता दें कि उत्तराखंड पुलिस की पूर्व महानिदेशक  भी रही थी। वह देश की पहली प्रथम भारतीय महिला पुलिस महानिदेशक थी। कंचन चौधरी  साल 1973 बैच की आईपीएस अधिकारी थी।  पुलिस सेवा से रिटायर होने के बाद वह राजनीति में आ गई। उन्होंने साल 2014 में उत्तराखंड के हरिद्वार से आम आदमी पार्टी के टिकट पर चुनाव भी लड़ा था।

कंचन चौधरी का जन्म हिमाचल प्रदेश में हुआ था। उन्होंने राजकीय महिला महाविद्यालय, अमृतसर से पढाई की । इसके बाद उन्होंने अपनी पोस्ट-स्नातक स्तर की पढ़ाई अंग्रेजी साहित्य में दिल्ली-यूनिवर्सिटी से की है।वह 1973 बैच की पुलिस अधिकारी है। वह भारत की पहली महिला है जिसे पुलिस महानिदेशक पद पर पहुंचने का गौरव प्राप्त हुआ है।कंचन चौधरी किसी राज्य की डीजीपी बनने वाली पहली महिला है। उनके जीवन से प्रेरणा लेकर दूरदर्शन पर एक सीरियल ‘उड़ान’ भी प्रसारित हुआ था। 2004 में उन्हें उत्तराखण्ड का पुलिस महानिदेशक बनाया गया। वह किरण बेदी के बाद देश की दूसरी महिला आईपीएस अधिकारी हैं। उन्हें भारत के और से इंटरपोल की बैठक में प्रतिनिधित्व करने के लिए चयनित किया गया जो कि कैनकन, मेक्सिको में 2004 में आयोजित किया गया था। 1997 में प्रतिष्ठित सेवाओं के लिए ‘राष्ट्रपति पदक’ भी मिल चुका है।

लालकुआं सूरज हत्याकांड का खुलासा, 3 ITBP जवान गिरफ़्तार, हुई थी मारपीट

शिक्षा के क्षेत्र में किया बड़ा काम, अब देवभूमि की टीचर का राष्ट्रपति करेंगे सम्मान

शराब पीकर चल रहा था वाहन, CPU ने रोका तो हेलमेट से किया वार, फाड़ दी वर्दी

खेलों में भी था जेटली का बड़ा मान, सलामी बल्लेबाज को शादी के लिए दिया था अपना घर