हल्द्वानी: राज्य में भारी बारिश की चेतावनी मौसम विभाग ने दे दी है। वहीं बारिश के चलते ऋषिकेश में गंगा खतरे के निशान के करीब पहुंच गई है। इसे देखते हुए प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। वहीं रविवार से उत्तराखण्ड के अधिकतर इलाकों में बारिश हो रही है। मौसम विभाग ने दून, नैनीताल, चंपावत, पिथौरागढ़, चमोली, टिहरी और पौड़ी जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

इस दौरान प्रदेश के अन्य क्षेत्रों में भी अच्छी बारिश होने का अनुमान है। मौसम केंद्र की ओर से जारी बुलेटिन के अनुसार नौ जुलाई से प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में भारी बारिश होगी। बता दे कि इस बार राज्य में मानसून देरी से पहुंचा है। पहली बारिश के बाद से मौसम विभाग लगातार भारी बारिश की चेतावनी जारी कर रहा है। इसको देखते हुए राज्य आपदा परिचालन केंद्र से सभी जिलाधिकारियों को अतिरिक्त सावधानी बरतने के निर्देश भी जारी किए गए हैं।

इस बारे में मौसम केंद्र निदेशक के बिक्रम सिंह का कहना है कि दक्षिण-पश्चिम मानसून राज्य के ज्यादातर इलाकों में पहुंच चुका है। सक्रिय मानसून के चलते अधिकांश इलाकों में अच्छी बारिश होने का अनुमान है। उन्होंने बताया कि शुक्रवार 12 जुलाई तक प्रदेश के ज्यादातर क्षेत्रों में भारी बारिश होने की संभावना है। उसके बाद मौसम में कुछ बदलाव आ सकता है। 

बारिश के चलते उत्तराखण्ड के कई पहाडी क्षेत्रों में भूस्खलन हुआ है, जिससे यातायात में काफी परेशानी हो रही है। चम्पावत जिले में NH 09 टिपिन टॉप पर बंद हो गया है। हाईवे पर लगातार पत्थर और मलवा आ रहा है। बारिश के कारण वहां और भी परेशानी हो रही है। मलवा नहीं हटाए जाने के कराण पुलिस ने ट्रैफिक रूट भी डाइवर्ट कर दिया गया है।