हल्द्वानी लाइव: इन्वेस्टर समिट पर हरीश रावत का प्रहार, बोले जैसा गुरु वैसा चेला

134

हल्द्वानी:  राजधानी में रविवार से शुरू हुए इन्वेस्टर सम्मिट के विषय पर विपक्ष सरकार को चारों तरफ से घेरने पर लगा हुआ है। एक तरफ सरकार इन्वेस्टर सम्मिट को उत्तराखण्ड के विकास दौर करार दे रही है तो वहीं कांग्रेस ने इसे जुमला करार दिया है। हल्द्वानी पहुंचे पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने देहरादून में हुए इन्वेस्टर सम्मिट कार्यक्रम पर तंज करते हुए कहां है कि जैसा गुरु वैसा चेला दोनों एक जैसे हैं l प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2014 चुनाव में सभी वादे किए लेकिन अपने वादों को 2022 में पूरा करने की बात कर रहे है ,जबकि प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह 2017 में वादे किए और अब अपने वादे को 2025 में करने की बात कर रहे है , ऐसे में जैसा गुरु और चेला दोनों एक जैसे हैंl ऐसे में सब को दिल थाम कर वादे का इंतजार करना चाहिए। उन्होंने कहा कि इन्वेस्टर सम्मिट केवल दिखाया है। नैनीताल लोकसभा सीट से चुनाव लड़ने के दावेदारी पर हरीश रावत ने कहा कि अभी फोकस संगठन को मजबूत करने का है, ऐसे में चुनाव के समय जैसा भी निर्णय होगा उस तरह से रणनीति बनाई जाएगी l

उन्होंने कहा कि इन्वेस्टर सम्मिट को पैसा बर्बादी करार दिया था। कांग्रेस की मानें तो सरकार केवल अपने चहीते उद्योगपतियों  को फायदा पहुंचा रही है। चार साल से देश और डेढ़ साल से उत्तराखण्ड की जनता भाजपा की कार्यशैली को देख रही है जो केवल वादों की है, जिसमें जमीनी स्तर पर कोई काम नहीं है।

चुनाव को पास आता देख वोट के लिए इन्वेस्टर समिट को विकास कहा जा रहा है। राज्य में कई ऐसी परेशानियां और पुराने विकास मॉर्डल है जिन पर काम होना है, लेकिन पुराने कामों को अधूरा छोड़कर सरकार नए काम शुरू कर रही है। इस सरकार ने जनता को केवल सपने दिखाए है और अपने लोगों को फायदा पहुंचाया है।