उत्तराखंड में कोरोना वायरस को लेकर हाई अलर्ट, डॉक्टरों की छुट्टियों पर रोक

देहरादूनः चीन में 106 लोगों की जान ले चुका कोरोना वायरस भारत में भी दस्तक दे सकता है। कोरोना वायरस ने भारत, अमेरिका सहित एक दर्जन देशों को अपनी चपेट में ले लिया है। मुंबई, राजस्थान, मोहाली, बिहार, दिल्ली और मध्य प्रदेश में कोरोना के संदिग्ध मरीज मिले हैं। जगह-जगह अलर्ट जारी किया गया है। उत्तराखंड में भी कोरोना वायरस से निपटने के लिए अलर्ट जारी कर दिया गया है। उत्तराखंड की सीमा चीन और नेपाल जैसे देशों से सटी है। स्वास्थ्य विभाग ने सीमावर्ती जिलों के लिए हेल्थ एडवाइजरी जारी की है। नेपाल सीमा से सटे चेक पोस्टों पर निगरानी के लिए डॉक्टरों की टीमें तैनात करने के निर्देश दिए गए हैं। 

बता दें कि उत्तराखंड स्वास्थ्य विभाग भी अलर्ट मोड में आ गया है। विभाग ने राजकीय संयुक्त चिकित्सालय (कोरोनेशन) देहरादून के सभी डॉक्टरों और स्टाफ की छुट्टियों पर रोक लगा दी है। इस संबंध में जिला चिकित्सालय प्रमुख अधीक्षक द्वारा शासनादेश जारी किया गया है। वहीं नेपाल सीमा पर बसे बनबसा और टनकपुर बैराज क्षेत्र में लोगों को जागरूक किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग पिथौरागढ़ जिले के धारचूला, बनबसा, जौलजीवी, मनकोट, झूलाघाट और मनवाकोट इलाकों में चेक पोस्टों पर डॉक्टरों की टीमें तैनात करेगा। नेपाल और चीन से आने वाले हर यात्री की स्क्रीनिंग की जाएगी। अभियान शुरू हो गया है। इसके तहत नेपाल बॉर्डर पर 152 लोगों की स्वास्थ्य जांच की गई। स्वास्थ्य विभाग कोरोना वायरस से निपटने के लिए पुलिस और आईटीबीपी की मदद लेगी।

इस वायरस को लेकर नैनीताल और ऊधमसिंह नगर जिले में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है। रुद्रपुर जिला अस्पताल और काशीपुर के सरकारी अस्पताल में कोरोना वायरस को लेकर आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है। सभी निजी एवं सरकारी अस्पतालों को पत्र लिखकर आइसोलेशन वार्ड बनाने को कहा गया है। नेपाल सीमा पर आज दूसरे दिन भी स्वास्थ, एसएसबी और पुलिस टीम भी जांच में जुटी है। पहले दिन 50 लोगों की जांच हुई। टीम द्वारा किसी में कोरोना वायरस लक्षण न मिलने की बात कही गई है। वहीं सीएमओ डॉ. भारती राणा ने बताया कि एडवाइजरी मिलने के बाद सभी निजी और सरकार को अस्पतालों को पत्र लिखा गया है कि अपने यहां आइसोलेशन वार्ड बना लें। साथ ही अस्पताल में एक चिकित्सक को नोडल अधिकारी नामित करें और उसका मोबाइल नंबर डिस्पले करें।

चलिए अब आपको कोरोना वायरस के लक्षण बताते हैं। बुखार, गले में खराश, सांस लेने में तकलीफ, निमोनिया और खांसी कोरोना के लक्षण हैं। वायरस का असर 1 से 15 दिन तक रहता है। कोरोना वायरस पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आने से फैलता है। इसलिए मरीज को खांसते-छींकते वक्त मुंह और नाक को रुमाल से ढकना चाहिए। कोरोना वायरस से पीड़ित व्यक्ति से हाथ ना मिलाएं। खाना खाने से पहले हाथों को साबुन से जरूर धोएं।