देवभूमि की बेटी ने किया नाम रोशन, नैनीताल की हिमानी यूरोप में बनी प्रोफेसर

हल्द्वानी: एक बार फिर उत्तराखंड की बेटी ने शिक्षा के क्षेत्र में कामयाबी प्राप्त की है। ये कामयाबी अपने देश में नहीं बल्कि विदेश में प्राप्त की है, जहां उत्तराखंड का नाम रोशन हो रहा है। नैनीताल की रहने वाली डॉ. हिमानी भाकुनी असिस्टेंट प्रोफेसर ऑफ जस्टिस इन ग्लोबल हेल्थ रिसर्च एट यूनिवर्सिटी मेडिकल सेंटर ऊत्रेख हॉलैंड के पद पर नियुक्त हुई है। हिमानी भाकुनी की कामयाबी के बाद राज्य भर से उन्हें बधाई मिल रही है।

जानकारी के मुताबिक हिमानी के पिता डॉ. भूपाल सिंह भाकुनी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व प्रदेश प्रवक्ता हैं। उनके भाई वरुण प्रताप सिंह भाकुनी भी प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदस्य हैं और हाईकोर्ट में वकील हैं। उन्होंने नैनीताल के सेंट मैरी कॉन्वेंट स्कूल से बारहवीं तक पढ़ाई की। इसके बाद क्राइस्ट कॉलेज बंगलूरू से लॉ की पढ़ाई की। आगे की पढ़ाई के लिए उन्होंने नीदरलैंड जाने का फैसला किया। ग्रोनइनगन यूनिवर्सिटी से एलएलएम और एडिनबर्ग यूनिवर्सिटी यूके से पीएचडी करने के बाद टिलबर्ग यूनिवर्सिटी नीदरलैंड से डुअल डॉक्टरेट की उपाधि हासिल की।

हिमानी की उम्र केवल 30 साल है और शिक्षा के क्षेत्र में उन्होंने एक बड़ा मुकाम हासिल किया है। उनके पिता का कहना है कि उनकी बेटी बचपन से ही पढ़ाई में अच्छी थी। वह हमेशा टॉपर रही है। पढ़ाई के लिए उन्होंने कभी पैसा खर्च नहीं किया। हिमानी ने विदेश में स्कॉलरशिप से ही पढ़ाई की। वह स्कूल से लेकर पीएचडी तक के सफर में टॉपर एवं गोल्ड मेडलिस्ट रहीं। वह वर्तमान में रॉटरडम यूनिवर्सिटी में सीनियर प्रोफेसर के पद पर है।

हिमानी की कामयाबी उन सभी युवाओं के लिए उदाहरण हैं जो आर्थिक कमजोरी के वजह से पढ़ाई छोड़ देते हैं। जिस तरह हिमानी ने स्कॉरशिप के जरिए पढ़ाई की उसी तरह से अन्य युवा भी ऐसा कर उत्तराखंड का नाम रोशन कर सकते हैं। हिमानी को हल्द्वानी लाइव डॉट कॉम की ओर से हार्दिक बधाई।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now