एक अक्टूबर से पहले नहीं खुलेगा गिरिजा देवी मंदिर, कोरोना वायरस की मामलों पर निर्भर रहेगा अगला फैसला

एक अक्टूबर से पहले नहीं खुलेगा गिरिजा देवी मंदिर, कोरोना पर निर्भर रहेगा अगला फैसला

उत्तराखंड में कोरोना वायरस के मामले कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। एक्टिव केसों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी देखने को मिल रही है। जिस तरह से मामले बढ़ रहे हैं उससे साफ नजर आ रहा है कि आने वाले दिनों में राज्य में कुछ पाबांदियों को दोबारा लगाया जा सकता है। रामनगर में स्थित गिरिजा देवी मंदिर 18 सितंबर से खुलने वाला था लेकिन कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए उसे 30 सितंबर तक बंद रखने का फैसला समिति द्वारा लिया गया है। मंदिर पिछले 16 मार्च से लोगों के लिए बंद है। प्रशासन ने मंदिर खोलने हेतु बैठक भी की है लेकिन कोरोना वायरस हर वक्त मंदिर खोले जाने के आड़े आ रहा है।

यह भी पढ़ें: लखनऊ से देहरादून और हरिद्वार के लिए बस सेवा शुरू,ऑनलाइन बुकिंग भी कर सकते हैं यात्री

मंदिर समिति भी लोगों की सुरक्षा के प्रति गंभीर है और उन्होंने फैसला लिया है कि फिलहाल अक्टूबर तक मंदिर बंद रहेगा। दिर समिति के पदाधिकारियों, पुजारी पूर्णचंद पांडे, गिरिजा के स्थानीय प्रसाद विके्रता व दुकानदारों की बैठक हुई। समिति के सचिव डा. देवीदत्त दानी द्वारा जानकारी दी गई कि सर्वसम्मति से तय हुआ कि मंदिर को 18 सितंबर को खोलने के बजाए 30 सितंबर तक बंद रखा जाए। इसके बाद स्थिति के अनुसार मंदिर खोलने को लेकर निर्णय लिया जाएगा। इस बारे में एसडीएम को पत्र देकर मंदिर समिति के फैसले से अवगत करा दिया है। जिले में अनलॉक के लागू होने के बाद कई मंदिरों को खोल दिया गया है। जहां नियमों के साथ भक्तों को एंट्री दी जा रही लेकिन गिरिजा देवी मंदिर में लगने वाली भीड़ में नियमों का पालन हो पाना मुश्किल रहेगा और इसलिए यह फैसला लिया गया है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में गर्भवती महिलाओं के लिए भी होम आइसोलेशन की व्यवस्था लागू, इन शर्तों का करना होगा पालन

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now