उत्तराखण्ड:भागीरथी नदी में ट्रेनिंग के दौरान डूबने से आईटीबीपी के जवान की दर्दनाक मौत

देहरादून: भागीरथी नदी में में डूबने से आईटीबीपी एक जवान की मौत हो गई। यह हादसा महिडांडा स्थित काउंटर इंसर्जेंसी जंगल वार फेयर (सीआईजेडब्ल्यू) स्कूल की स्पेशल ट्रेनिंग के दौरान तेखला में हुआ। हादसे की कारण जानने के लिए हादसे के कारणों की आईटीबीपी की ओर से कोर्ट ऑफ इंक्वायरी करायी जा रही है। वहीं जवान का शव सैन्य सम्मान के साथ घर भेजा जा रहा है। खबर के मुताबिक नक्सल प्रभावित इलाकों व दुर्गम क्षेत्रों में ड्यूटी के लिए जवानों को तैयार करने किए जाने के उद्देश्य से आईटीबीपी की ओर से महिडांडा में सीआईजेडब्ल्यू स्कूल संचालित किया जा रहा है। आईटीबीपी के साथ ही विभिन्न पुलिस एवं अर्द्धसैनिक बलों के जवानों को ट्रेनिंग दी जाती है।

आईटीबीपी की बरेली, अमृतसर एवं कानपुर में तैनात बटालियनों के 310 जवानों प्रशिक्षण ले रहे हैं। ट्रेनिंग के दौरान सोमवार को जवानों को गंगोत्री हाईवे से लगे तेखला में रीवर क्रॉसिंग एवं स्पिलरिंग का प्रशिक्षण दिया जा रहा था। इस दौरान आईटीबीपी तृतीय बटालियन बरेली में एएसआई के पद पर तैनात टॉमिक भौनिया मुनस्यारी पिथौरागढ़ निवासी मोहन सिंह (50) पुत्र विजय सिंह की नदी में डूब गया। जवान को तत्काल नदी से निकालकर आईटीबीपी के चिकित्सकों ने मौके पर ही प्राथमिक उपचार दिया।

हालत में सुधार नहीं होने पर उन्हें जिला अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। पोस्टमार्टम करने के बाद शव आईटीबीपी के अधिकारियों के सौंप दिया गया है। यहां से शव पूरे सैनिक सम्मान के साथ जवान के घर भेजा जा रहा है। जवान का परिवार दिल्ली में रहता है। सीआईजेडब्ल्यू स्कूल में पांच साल पहले भी ट्रेनिंग के दौरान हुए हादसे में मणिपुर पुलिस के दो जवानों की मौत हो गई थी।
न्यूज सोर्स- अमर उजाला