देहरादून: कोरोना वायरस के वजह से सबसे ज्यादा नुकसान पर्यटन के व्यापार से जुड़े व्यापारियों को हुआ है। उत्तराखंड में ये संख्या ज्यादा है क्योंकि राज्य में लाखों की संख्या में पर्टयक पहुंचे है लेकिन कोरोना वायरस के बाद लागू हुए लॉकडाउन ने पूरी तस्वीर ही बदल दी। उत्तराखंड अनलॉक की ओर बढ़ रहा है लेकिन कई जिलों में होटल नहीं खोलने का फैसला स्थानीय संघ ने लिया है। नैनीताल के बाद मसूरी में भी होटल बंद रहेंगे।

मसूरी होटल एसोसिएशन ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए 30 जून तक होटलों को बंद रखने का निर्णय लिया है। इसके अलावा धनोल्टी में भी 23 जून तक सभी होटल, रेस्ट्रो बंद रहेंगे।

इस बारे में मसूरी होटल एसोसिएशन की बैठक में एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश नारायण माथुर ने बताया कि अभी होटल के पास स्टाफ है नहीं, लॉकडाउन के बाद सभी घर चले गए हैं। सरकार ने बाहर से आने वालों को सात दिन का संस्थागत तथा चौदह दिन का होम क्वारंटाइन जरूरी किया है। ऐसे में पर्यटक क्यों यहां पहुंचेंगे। महासचिव संजय अग्रवाल ने बताया कि इन परिस्थितियों को देखते हुए 30 जून तक होटल बंद रखने का निर्णय लिया गया।

अगर कोई होटल स्वामी अपने होटल को संचालित करना चाहता है तो उसे सरकारी गाइडलाइन तथा नियमों का पूरा पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि 30 जून के बाद फिर बैठक होगी, जिसमें परिस्थितियों को देखते हुए निर्णय लिया जाएगा। जबकि धनोल्टी व्यापार संघ अध्यक्ष रघुवीर रमोला ने बताया कि धनोल्टी में होटल-रेस्तरां 23 जून तक बंद रहेंगे। उसके बाद बैठक कर निर्णय लिया जाएगा।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now