बरात के खाने ने ली एक और जान, हल्द्वानी में महिला ने तोड़ा दम

1919

हल्द्वानी:  बागेश्वर के बास्ती गांव में शादी के खाना खाने से फूड प्वाइजनिंग काे मामले ने पूरे राज्य में सनसनी फैलाई है।  इस हादसे में 250 से ज्यादा लोगों की तबीयत खराब हो गई। वहीं मौत का आंकड़ा 4 पहुंच गया है। सुशीला तिवारी अस्पताल में भर्ती हुई खिमुली देवी (60 वर्ष) ने सोमवार सुबह दम तोड़ दिया।  बता दें कि खिमुली देवी के पति फकीर सिंह (86) भी सुशीला तिवारी अस्पताल में ही भर्ती हैं। खिमुली भी बास्ती के निकट गांव सनगाड़ की रहने वाली थीं, जहां उन्होंने परिवार सहित विवाह समारोह में भोजन किया था।

जम्मू कश्मीर में शहीद हुए उत्तराखंड के दो लाल, पूरे राज्य में मातम

फूड प्वाइजनिंग से पीड़ित अन्य लोगों की तबीयत में कुछ सुधार नजर आ रहा है। बेरीनाग में भर्ती दो मरीजों की तबीयत ज्यादा बिगड़ने के बाद मोहन सिंह (65) और मोहिनी देवी (58) को रविवार देर रात हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल ले आए। इसी के साथ अस्पताल में भर्ती कुल मरीजों की संख्या 46 हो गई है, जबकि घटना में अब तक 4 लोगों की मौत हो चुकी है। बताया जा रहा है कि फूड प्वाइजनिंग से बीमार हुए लोगों से मिलने के लिए मंत्री धन सिंह रावत थोड़ी देर में एसटीएच पहुंचने वाले हैं। सांसद भगत सिंह कोश्यारी भी आ रहे हैं।

रिर्सच में हुआ खुलासा, नशा कम करता है बच्चों का IQ, तुरंत ले मनोचिकित्सक की सलाह

शनिवार देर रात और रविवार सुबह ये हुए भर्ती

तारा (28), भूपाल (36), कुशाल (74), आनंदी (45), निर्मला (30), योगेश (10), कोमल (06), शाक्षी (08), बीमा देवी (40), राम सिंह (68), पिंकी (17), मोहित (09), शोभा (14), जयंती देवी (42), गोपुली देवी (50) और सुंदर (25)

ये लाए गए एयरलिफ्ट कराकर 
कमरी (65), किरण (21) और जीत सिंह (55)

ये जांचें कराई जा रही हैं
स्टूल, स्टूल कल्चर, ब्लड कल्चर, अल्ट्रासाउंड (पेट), एक्स रे, यूरिया, एसजीओटी, एसजीपीटी, ब्लड शुगर, ईएसआर, हीमोग्लोबिन, टीएलसी-डीएलसी, क्रिटनाइन, एल्कट्रोलाइट, बिलरोबिन, ईसीजी, सोडियम और पोटिशयम