सड़क हादसा, गुरुग्राम में उत्तराखंड के दो युवकों की सड़क हादसे में मौत

नई दिल्लीः सड़क हादसे थमने का नाम नहीं ले रहें हैं। सड़क हादसों का मुख्य कारण यातायात के नियमों की अनदेखी करना होता है। शराब पीकर गाड़ी चलाना, तेज रफ्तार से गाड़ी चलाना, दूसरे लेन में गाड़ी चलाना यह सब सड़क हादसों के बड़े कारण है। ऐसा ही एक दिल दहला देने वाला हादसा गुरुग्राम से सामने आया है। जहां उत्तराखंड में पौड़ी जिले के राठ क्षेत्र के दो युवाओं की हरियाणा प्रांत के गुरुग्राम में सरहौल बॉर्डर पर हुए सड़क हादसे में मौत हो गई, जबकि उनका एक साथी गंभीर रूप से घायल हो गया है।

बता दें कि पौड़ी गढ़वाल के कुठ गांव निवासी रमेश सिंह (23 वर्ष), कठूड़ गांव निवासी वीर सिंह (22) और सलोन गांव निवासी नरेंद्र सिंह गुरुग्राम में एमजीएफ मॉल स्थित एंपायर क्लब में बतौर कुक की नौकरी करते थे। सोमवार तीनों युवक सरहौल बॉर्डर के पास से गुजर रहे थे, तभी अचानक किसी तेज रफ्तार वाहन ने उन्हें टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जोरदार थी की हादसे में रमेश सिंह और वीर सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। वहीं नरेंद्र सिंह गंभीर रूप से घायल हो गया।

हादसे के बाद मौके पर स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई। और लोगों की मदद से नरेंद्र सिंह को दिल्ली स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के मुताबिक मंगलवार को नरेंद्र के स्वास्थ्य में सुधार आया है। वहीं पुलिस ने एक मृतक युवक के चचेरे भाई मनवर सिंह की तहरीर के आधार पर अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

वही हादसे के बाद मंगलवार को दोनों शवों को पोस्टमार्टम के बाद परिवारवालों को सौंप दिया गया है। मृतकों के परिवारों में कोहराम मच गया है। पुलिस का कहना है की अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि तीनों युवक सरहौल टोल के पास क्यों गए थे। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।