उत्तराखंड से दिल्ली जाकर वापस आने वालों के लिए जरूरी नियम, पूरा पढ़ें

उत्तराखंड से दिल्ली जाकर वापस आने वालों के लिए लागू हुआ जरूरी नियम

हल्द्वानी: जिस तरीके से कोरोना वायरस के मामले राज्य में बढ़ रहे हैं वो लोगों को डरा रहा है। रोजाना एक हजार से ऊपर मामले सामने आ रहे हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को कम किया जाए, इसके लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। बॉर्डर में सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है और कोरोना जांच की सुविधा दी जा रही है। उत्तराखंड पहुंचने वाले हर शख्स की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव होनी चाहिए। अगर वह बिना कोरोना रिपोर्ट के उत्तराखंड में एंट्री लेते हैं तो उन्हें क्वारंटाइन किया जाएगा। दूसरी ओर उत्तराखंड से दिल्ली जाकर वापस आने वालों के लिए बड़ी खबर सामने आ रही है।

देहरादून से दिल्ली ट्रेन से जाने वालों के लिए एक नियम बनाया गया है। अगर कोई यात्री दो दिनों के भीतर देहरादून से दिल्ली जाने के बाद लौट आता है, तो उसे क्वारंटाइन नहीं होना पड़ेगा और टेस्ट की भी जरूरत नहीं है। दूसरी ओर अगर व्यक्ति दो दिन से ज्यादा वक्त दिल्ली में गुजारता है और फिर उत्तराखंड पहुंचता है तो टेस्ट करना अनिवार्य है। ऐसे लोगों को क्वारंटीन सेंटर भी भेजा जा सकता है। एडीएम प्रशासन अरविंद पांडे के मुताबिक ये व्यवस्था सभी ट्रेनों पर लागू होगी। इसके तहत केवल गर्भवती महिला और 10 साल से छोटे बच्चों को छूट दी गई है।

बुधवार को 1540 नए मामले सामने आए हैं, जिसमें सबसे अधिक 429 देहरादून से हैं। इसके अलावा 363 हरिद्वार, 246 ऊधमसिंहनगर, 118 नैनीताल, 97 अल्मोड़ा, 84 बागेश्वर, 55 पिथौरागढ़, 51 पौड़ी गढ़वाल, 47 उत्तरकाशी, 31 चमोली, 12 टिहरी गढ़वाल और सात रुद्रप्रयाग से हैं। वहीं, 1192 लोग ठीक हुए हैं, जबकि नौ की मौत हुई है। प्रदेश में संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़कर 35947 हो गई है। हालांकि, इनमें से 24277 पूरी तरह से स्वस्थ हो चुके हैं। वर्तमान में 11068 केस एक्टिव हैं, जबकि 447 लोगों की मौत हो चुकी है। इसके अलावा 155 मरीज राज्य से बाहर जा चुके हैं।   

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now