भवाली:नीरज जोशी: गुरुवार को समूचे कुमाऊँ में टैक्सी यूनियन की हड़ताल यातायात करने वाले लोगों के लिए सिर्द का विषय बनी रही। नैनीताल घूमने आए सैलानियों को प्राइवेंट टैक्सियों का सहारा लेना पड़ा जिन्होंने मनमर्जी के रुपए मांगे। वहीं कुमांऊ की तरफ जाने वाले अधिकतर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। टैक्सी यूनियन की हड़ताड़ होने के कारण परिवाहन बसों में बैठने के लिए भी लोगों को काफी मशक्त का सामना करना पड़ा।

वहीं भवाली में भी हड़ताल कर यूनियन ने सरकार के प्रति अपनी नाराजगी व्यक्त की। भवाली में टैक्सी यूनियन की हड़ताल के कारण यहां आने वाले पर्यटक काफी परेशान रहे। दिन भर बसों में सफर करना पर्यटकों की मजबूरी बन गया।  जहां एक तरफ सरकार पर्यटकों को बढ़ावा देने की बात कर रही है, वहीं इस तरह की गतिविधियों से सैलानी नैनीताल से दूर रह सकते हैं। वैसे भी इस सप्ताह नैनीताल के फुल होने के कारण कई सैलानियों को होटल में बुकिंग होने के बाद भी नगर में नहीं जाने दिया गया।

आंदोलन की धमकी 

बता दे कि व्यवसायिक वाहनों में स्पीड गवर्नर को लगाने की व्यवस्था को लेकर आज कुमाऊं के समस्त टैक्सी चालक हड़ताल में रहे। वाहनों के न चलने से पर्यटक इधर उधर घूमते नजर आए। खासकर अधिक समान व बच्चों वाले पर्यटको को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। टैक्सी यूनियन के पदाधिकारियों का कहना था कि आज हड़ताल के कारण भवाली से हल्द्वानी, भीमताल,अल्मोड़ा व मुक्तेश्वर की सभी सेवाए आज बन्द हैं। अगर सरकार जल्द स्पीड गवर्नर लगाने का अपना फैसला वापस नही लेगी तो तो कुमाऊँ में सभी जगह हड़ताल जारी रहेगी जिसकी जिम्मेदारी सरकार व प्रशाशन की होगी।

क्या है स्पीड गवर्नर डिवाइस: 
स्पीड गवर्नर डिवाइस का वाहनों की गति को कंट्रोल करने के लिए उपयोग किया जाता है। इस डिवाइस को वाहनों में इंजन के साथ लगाया जाता है। स्पीड गवर्नर लगाने के बाद वाहन की गति सीमित हो जाती है। तय गति से ज्यादा पर वाहन नहीं चलाया जा सकता। इस तरह के डिवाइस जिले के सभी कॉमर्शियल वाहनों में लगाए जाने के लिए कहा जा रहा है।