धौलादेवी: स्कूल में मनाया गया शिक्षक दिवस, बच्चों ने जाना शिक्षक और शिक्षा का महत्व

शिक्षक दिवस के सुअवसर पर राजकीय प्राथमिक विद्यालय बजेला विकासखण्ड धौलादेवी अल्मोड़ा में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी की जयंती को शिक्षक दिवस के रूप में हर्षोल्लास से मनाया गया। इस पुनीत पर्व अपने शिक्षकों का शुक्रिया अदा किया और अपने छात्रों को भी सत्य और आदर्श की राह लेने को कहा गया। हर साल 5 सितंबर को शिक्षक दिवस मना कर हम अपने शिक्षकों को सम्मान देते हैं। शिक्षक हमारे भविष्य का निर्माण करते हैं। ये बच्चे देश का भविष्य हैं,यह हमारा कर्तव्य है कि हम अपने छात्रों का मार्ग दर्शन कर उन्हें आदर्श नागरिक बनाने की महत्वपूर्ण भूमिका हमेशा निभाते रहें ।

goverment school almora teacher bhaskar joshi

इसी क्रम में आज विद्यालय में बाल शोध मेला व स्वच्छता प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। विद्यालय के अध्यापक भाष्कर जोशी ने कहा कि ज्ञान केवल किताबों तक ही सीमित नहीं रहता है वह तो सर्वत्र फैला हुआ है जरूरत है उसे एक निरंतरता और एक क्रम में समायोजित कर उसका निर्माण करने की। बच्चे अपने परिवेश और आसपास घट रही घटनाओं से निरन्तर कुछ न कुछ सीखते रहते हैं। वे कुछ अनुमान लगाते हैं,स्वयं से अनुभव करते हैं और बड़ों से संवाद करते हुए अपनी समझ को विकसित करते हैं। इस पूरी प्रक्रिया में उनके भीतर की जिज्ञासा, कौतूहल, आनन्‍द की अनुभूति व मन में उठ रहे प्रश्न उन्हें कुछ नया खोजने की ओर प्रेरित करते हैं। यही नई खोज नया ज्ञान है , स्वच्छता ही सेवा है कहते हुए बच्चे कई बार मुझसे संवाद कर चुके थे कि सर स्वच्छता से कैसे सेवा होगी ,किसकी होगी इत्यादि इत्यादि…… ।

goverment school almora teacher bhaskar joshi

इन्ही प्रश्नों के उत्तर देने के लिए उन्हें मोटीवेट किया और बच्चे को कुछ न कुछ assignment व परियोजना कार्य दिया गया ,यह एक लंबी प्रक्रिया थी जो आज जाके पूर्ण हो पाई ।
बच्चों ने न केवल स्वच्छता सामग्री की प्रदर्शनी लगाई साथ ही विभिन्न मॉडलों के माध्यम से अपने क्षेत्र की जनता को बताया कि हम कैसे कैसे स्वच्छता को सेवा का रूप दे सकते है और इसके क्या लाभ है प्रदर्शनी का मुख्य आकर्षण स्वच्छ भारत मॉडल रहा इसके अलावा , रेन वाटर हारवेस्टिंग मॉडल, क्लीन वाटर ट्रीटमेंट प्लांट, जैविक व अजैविक कूड़ा दान, कूड़ा निस्तारण कैसे करे, प्लास्टिक से कैसे निजात पाये, भीमल की रस्सी से बने कैरी बैग भी अभिभावकों। ने सराहे ।

goverment school almora teacher bhaskar joshi

साथ ही साथ छात्रों ने शिक्षक के साथ मिलकर कई प्रकरणों पर कार्य भी किया जिससे उनका मनोबल भी ऊंचा हुआ और अब वे स्पष्ट हो चुके है कि उन्हें क्या करना होगा और क्या नही ताकि वो देश मे चल रहे स्वच्छता के त्योहार का अभिन्न अंग बन कर एक आदर्श नागरिक बन अपना ,अपने अभिभावक व अपने शिक्षक का नाम रोशन कर सकें , इस शिक्षक दिवस पर मेरी यही शुभकामनाएं है ।

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः पति नशा मुक्ति केंद्र में करा रहा इलाज, पत्नी से दुष्कर्म करता रहा पड़ोसी

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंड के अल्मोड़ा में बादलों ने मचाया ताडंव, बादल फटने से मकान ढहा

यह भी पढ़ेंः उत्तराखंडः पत्नी पति से वीडियो कॉल पर कर रही थी बात, हुआ कुछ ऐसा की हुई मौत

यह भी पढ़ेंः उत्तराखण्ड क्रिकेट टीम के लिए खेलेंगे उन्मुक्त चंद, खुद किया ट्विट

यह भी पढ़ेंः हल्द्वानी नैैनीताल बैंक में फिल्मों की तरह दीवार तोड़कर घुसे चोर, हुए नाकामयाब