देहरादून: रेलवे स्टेशन पर दस माह के बच्चे के अपहरण से हड़कंप मचा

रेलवे स्टेशन पर रविवार देर रात एक परिवार से उनका जिगर का टुकड़ा दूर हो गया। रेलवे स्टेशन से 10 महीने के बच्चे के गायब होने से परिसर में सनसनी मचा दी। सूचना के बाद पटेलनगर पुलिस ने बच्चे को अगवा करने वाले आरोपी को गिरफ्तार किया। आरोपी बच्चे को बेचने की फिराक में था। दरअसल दंपत्ति को मुरादाबाद जाना था और ट्रेन के छूट जाने के बाद वह स्टेशन में सो रहे थे। इसी दौरान आरोपी बच्चे को अगवा कर ले भागा गया।


खबर के अमुसार मुरादाबाद के मझौला निवासी आशीष सक्सेना सेलाकुई स्थित एक फैक्ट्री में काम करते हैं। रविवार रात उन्हें परिवार के साथ मुरादाबाद जा रहा था। लेकिन, जब तक वह स्टेशन पर पहुंचे काठगोदाम को जा रही ट्रेन निकल चुकी थी। इसके बाद आशीष को अपनी पत्नी और दस माह के बेटे वंश के साथ रेलवे स्टेशन पर रुकना पड़ा। इसके बाद एक युवक जो बच्चे को उठाकर ले गया था, उनके पास आया और  मीठी-मीठी बातें करने लगा। बच्चे को उठाने के लिए वह काफी देर तक वहां पर बैठा रहा। इइसी बीच दंपति की आंख लग गई। मौका मिलते ही आरोपी मां के पास सो रहे दस माह के बच्चे को उठा ले गया। कुछ देर बाद मां की आंख खुली तो बच्चा उसके पास नहीं था। उसने शोर मचाया तो स्टेशन परिसर में सनसनी फैल कगई।

इस बारे में देर रात डेढ़ बच्चे पुलिस को जानकारी दी गई,जिसके बाद पुलिस अधीक्षक नगर श्वेता चौबे ने पुलिस को चेकिंग के निर्देश दिए। जीआरपी थानाध्यक्ष दिनेश कुमार लक्खी बाग चौकी पुलिस के साथ आरोपी की धरपकड़ में जुटे। इसी बीच पटेलनगर कोतवाली की चीता मोबाइल को लाल पुल पर बच्चे के साथ एक संदिग्ध युवक दिखाई दिया। पुलिस ने पीछा कर उसे कुछ दूर दबोच लिया। आरोपी की पहचान आनंद सिंह ठाकुर निवासी गांधी ग्राम के रूप में हुई। उसने बच्चे के अपहरण की बात स्वीकार की। एसपी सिटी ने बताया कि जीआरपी थाने में मुकदमा दर्ज कर आरोपी को जेल भेज दिया गया है।