मंगलवार को तीन बड़े हादसों से दहला उत्तराखण्ड

हल्द्वानी: उत्तराखण्ड के पहाड़ी क्षेत्रों में बारिश लगातार हो रही है। प्रशासन की ओर से अलर्ट जारी किया हुआ है। मंगलवार को उत्तराखण्ड के तीन अलग-अलग जगह पर हुए हादसों ने पूरे राज्य में को दहला दिया। पहला हादसा टिहरी जिले के प्रतापनगर-कंगसाली-मदननेगी मोटर मार्ग में हुआ। जहां बच्चों को लेकर स्कूल जा रहा मैक्स वाहन संख्या यूए 07क्यू 3126 अनियंत्रित होकर खाई में गिर गया। हादसे में नौ बच्चों की मौत हो गई, जबकि 11 बच्चे घायल हैं। इस हादसे का मुख्य कारण चालक और स्कूल प्रशासन है। कहा जा रहा है चालक ने मैक्स में 20-22 बच्चे बैठाए हुए थे बल्कि उसकी क्षमता 10 थी। वहीं स्कूल प्रशासन इस बात को जानते हुए भी कोई कदम नहीं उठा रहा था। अगर उसने कोई कार्रवाई की होती तो बच्चों की जान बच सकती थी।

max face clinic haldwani

दूसरा हादसा बदरीनाथ हाईवे पर हुआ। बदरीनाथ जा रही है बस पर बोल्डर गिर गया, इस हादसे में 7 लोगों की मौत हो गई। यह हादसा लामबगड़ में आज सुबह नौ बजे हुआ। यह बस बदरीनाथ से जोशीमठ लौट रही थी। बस में 14 लोग सवार बताए जा रहे थे। घायल यात्रियों को पांडुकेश्वर चिकित्सालय लाया गया है। पहाड़ी से लगातार बोल्डर गिरने से रेस्क्यू करने में परेशानी आ रही है। कटर से वाहन को काटा जा रहा था।

तीसरा हादसा चमोली जिले के गैरसैंण  में हुआ, जहां बादल फटने से भारी मात्रा में मलबा नीचे स्थित गांव में आ गया। गैरसैंण तहसील के पत्थरकटा गांव में (बरसाती नाला) में बादल फटने से चार गोशाला मलबे में दब गई हैं। संपर्क पुलिया व प्राथमिक विद्यालय का किचन तथा फरस्वाण गांव की पेयजल लाइन बह गई है। कुछ आवासीय मकानों में मलबा भर गया। गैरसैंण के रजिस्ट्रार कानूनगो राकेश पल्लव ने बताया कि प्रशासन की टीम मौके पर पहुंच गई है और वहां बादल फटा है। जानमाल के नुकसान की सूचना नहीं है।