जय बाबा केदार, आस्था की मिसाल, साइकिल से केदारनाथ पहुंचे हल्द्वानी के दो युवा

हल्द्वानी: बाबा केदारनाथ के दर्शन करने के लिए एक साल में लाखों श्रद्धालु पहुंचते हैं। बाबा के चरण स्पर्श करने के लिए श्रद्धालु खड़ी चढ़ाई के अपने श्रद्धा के आगें छोटा साबित करते हैं। कई लोग बाबा के दर्शन करने के लिए हेलीकॉप्टर से भी पहुंचते हैं। इस क्रम में हल्द्वानी के दो युवाओं ने बाबा के दर्शन करने के लिए शहर से केदारनाथ मंदिर तक साइकिल से यात्रा की। दोनों ही युवाओं के इस कदम की पूरे राज्य में तारीफ हो रही है। दोनों ने शीतकालीन कपाट बंद होने से पहले बाबा केदार के दर्शन किए और गुरुवार को हल्द्वानी वापस पहुंचे।

हल्द्वानी से केदारनाथ की की दूरी करीब 350 किमी है। गौरीकुंड से 21 किमी खड़ी चढ़ाई को पार करने के बाद बाबा के दर्शन होते हैं। हल्द्वानी के डहरिया निवासी विकास दुर्गापाल (30) और ऊंचापुल निवासी रजत पांडे (20) ने 26 अक्टूबर (शनिवार) को यह यात्रा साइकिल से शुरू की। दोनों सोमवार दोपहर दो बजे गौरीकुंड पहुंचे। इसके आगे वाहनों की सुविधा ना होने से दोनों पहाड़ी पगडंडिया व पथरीली रास्तों को पार कर साइकिल से ही मंदिर परिसर में पहुंच गए। कपाट बंद थे और इसके चलते दोनों दर्शन नहीं कर पाए।

मंगलवार को तड़के चार बजे उठकर उन्होंने केदारनाथ का आशीर्वाद लिया। दोबारा उन्हीं रास्तों से चलते हुए गुरुवार रात दोनों हल्द्वानी पहुंच गए। दोनों ही युवाओं को साइकिलिंग का काफी शौक है। रजत उत्तराखंड एमटीबी चैंपियनशिप में दो बार के अलावा एमटीवी पुणे , एशियन व लद्दाख चैंपियनशिप में भी हिस्सा ले चुके हैं।

वहीं, विकास ने पुणे व उत्तराखंड चैंपियनशिप में तीन-तीन बार व स्टेट चैंपियनशिप में भी दो बार प्रतिभाग किया है।दोनों युवाओं का कहना है कि हमारी कोशिश है कि इस तरह की यात्रा से हम oपर्यावरण के प्रति लोगों को जागरूक कर पाएं। उन्होंने अपनी इस यात्रा में कई मार्गों से पॉलीथिन भी एकत्र की।