हल्द्वानी: सड़क हादसों में होने वाली हानि को रोकने के लिए नैनीताल पुलिस नए अभियान की ओर निकल पड़ी है। इस अभियान के तहत पुलिस सड़क पर वाहन चलाने वाले लोगों को जागरूक कर सुरक्षा प्रदान कर रही है। अब दोपहिया में पीछे बैठने वाले को भी हेलमेट पहनना जरूरी है। ऐसा नहीं करने पर एक अगस्त से पुलिस चालानी कार्रवाई करेगी। देश के महानगरों में इस नियम का पालन होता है। पिछले कुछ वक्त में कई ऐसे हादसे सामने आए है जिनमें पीछे बैठी सवारी को गंभीर चोट आई है। वहीं बिना हेलमेट सवारी करना हर वक्त जानलेवा रहता है।

बुधवार से दोपहिया वाहन के चालक और पीछे बैठे व्यक्ति को हेलमेट पहनना अनिवार्य हो गया, लेकिन हल्द्वानी शहर में अधिकतर लोग बिना हेलमेट के सड़कों में वाहन दौड़ाते नजर आए। दोपहिया वाहन चालक ही हेलमेट लगाए दिखे, जिससे साफ नजर आया कि लोग हेलमेट केवल चालान बचाने के लिए लगाते हैं। वहीं शहर के कई हिस्सों में सीपीयू ने कानून का उल्लंघन करने वालों के चालान करने की देरी भी नहीं की। हम क्यों भूल जाते हैं कि वाहन में यात्रा करते वक्त दोनों ही यात्रियों को सुरक्षित रहना चाहिए। हेलमेट से दोस्ती जान बचाने के लिए करनी चाहिए ना कि चालान के लिए।

haldwani cpu in action

Posted by Haldwanilive on Wednesday, 1 August 2018

वहीं सोमवार को इस नियम के लागू होने से पहले सीपीयू कर्मियों ने शहर में वाहन चालकों को रोककर इस बारे में बताया। उन्होंने लोगों से अपने परिचत व दोस्तों को इस नियम के बारे में सूचित करने का आग्रह किया है। वैसे भी साल 2015 से शहर में तैनात हुई सीपीयू के आने से सड़क हादसों में होने वाली हानियों के ग्राफ में कमी तो आई है लेकिन बिना हेलमेट से खतरा बना रहता है। वहीं एक अगस्त से नाबालिग बच्चे भी वाहन चलाते मिले तो वाहन स्वामी का लाइसेंस निरस्त कर दिया जाए।