सितारगंज: कोरोना वायरस अपनी चपेट में लगातार लोगों को ले रहा है। जेल में बंद कैदियों की सुरक्षा को लेकर भी प्रशासन चिंता में हैं। नैनीताल और ऊधमसिंह नगर में कैदियों के कोरोना संक्रमित होने का सिलसिला जारी है। इसी क्रम में एक मामला सामने आ रहा है सितारगंज जेल से, जहां अंडर वर्ल्ड डॉन प्रकाश पांडेय उर्फ पीपी भी कोरोना संक्रमित पाया गया है। विभाग व प्रशासन द्वारा उसे आईसोलेट किया जाएगा और सुरक्षा को लेकर मंथन चल रहा है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो देर रात तक निर्णय के बाद ही उसे अस्थाई जेल में शिफ्ट किये जाने की संभावना है।

यह भी पढ़ें: खुशखबरी:उत्तराखंड से दूसरे राज्यों के लिए रोडवेज़ बस चलाने के लिए सरकार तैयार

बताया जा रहा है कि सितारगंज सेंट्रल जेल में आजीवन कारावास की सजा काट रहे पीपी बुधवार को कोरोना संक्रमण की चपेट में आया। इसके अलावा अन्य कैदी भी कोरोना संक्रमित पाए गए हैं और उनकी सुरक्षा जेल प्रशासन के सिर दर्द का विषय बन गई है। बात पीपी की करें तो वह 2007 में नैनीताल जेल से पेशी के दौरान भाग चुका है। पीपी की बैक ग्राउंड की ओर नजर डाले तो उसको सुरक्षित स्थान और रखना पुलिस के लिए बड़ी चुनौती है। उसकी सुरक्षा में थोड़ी भी लापरवाही, पुलिस के सामने बड़ी मुसीबत खड़ी कर सकती है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड: डीएम ने पकड़ा गड़बड़ झाला, जांच करेगी एक टीम, भ्रष्टाचारी नहीं बचेगा

सितारगंज के सीएमएस डॉ राजेश आर्य ने बताया कि जेल में संक्रमित मिले कैदियों को सुरक्षित स्थान पर आइसोलेट किये जाने को लेकर मंथन किया जा रहा है। प्रसाशन के साथ लगातार बात चल रही है। देर रात तक स्थान को अंतिम रूप दे कैदियों के नियमित स्वास्थ्य जांच की व्यवस्था सुनिश्चित कर कैदियों को शिफ्ट कर दिया जायेगा। बता दें कि पीपी को देहरादून जेल से सितारगंज सेंट्रल जेल स्थानांतरित किया गया था। पीपी पर हत्या, रंगदारी, अपहरण के अलावा तमाम संगीन धाराओं सहित 13 मुकदमे देश भर में चल रहे हैं। पीपी का आतंक मुंबई तक रहा है। पीपी पर मकोका के तहत भी मामला दर्ज है। मुंबई में दो मामलों में वह आजीवन कारावास की सजा काट रहा है|

यह भी पढ़ें: हल्द्वानी में प्राइवेट स्कूलों में फीस वसूली को लेकर शुरू हुई जांच, मिल रहा है अहम अपडेट

उत्तराखंड में कोरोना वायरस के मामले

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है। स्थिति की गंभीरता का अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि पिछले 23 दिन में 261 मरीजों की मौत हो चुकी है। प्रदेश में कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 530 पर पहुंच गया है। बुधवार को प्रदेश में रिकॉर्ड 18 मरीजों की मौत हुई है। सरकारी व निजी लैब से 11084 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। जिनमें 10015 की रिपोर्ट निगेटिव और 1069 की पॉजिटिव आई है। देहरादून में वायरस का प्रसार तेजी से बढ़ रहा है। यहां पर 318 और लोग कोरोना संक्रमित मिले हैं। ऊधमसिंह नगर में 237 लोग की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं हरिद्वार में 127 व नैनीताल में 119 नए मामले मिले हैं। चमोली में 58, उत्तरकाशी में 53, पौड़ी में 48, टिहरी में 31, रुद्रप्रयाग में 22, पिथौरागढ़ में 21, बागेश्वर में 21 और अल्मोड़ा व चंपावत में सात-सात व्यक्ति कोरोना संक्रमित मिले हैं। अब तक प्रदेश में 43720 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें 31123 लोग ठीक हो गए हैं। वर्तमान में 11866 एक्टिव मरीज हैं, जबकि 201 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now