हर कोई लेगा आशीर्वाद, मोबाइल पर होंगे चारधाम के दर्शन, live आरती दिखाएगा JIO

देहरादून: भारत की संस्कृति पूरे विश्व में विख्यात है। खासकर जहां हर साल लाखों की संख्या में चारधाम यात्रा के लिए श्रद्धालू पहुंचते हैं। यह संख्या हर साल बढ़ती जाती है। अपनी कामयाबी के पीछे कई बड़ी हस्तियां चारधाम के प्रति आस्था को मानती रही है। पिछले कुछ सालों में उत्तराखण्ड डिजिटल रास्ते पर चल रहा है और इसके पीछे जियो का सबसे बड़ा हाथ है। चारधाम और जियो से जुड़ी एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जियो कंपनी इस बार चारधाम की आरती का प्रसारण लाइव करेगी तो अब तीर्थयात्री अब घर बैठे भी चारधाम यात्रा का आनंद उठा सकते हैं। इसके लिए उत्तराखंड सरकार, जिओ के सहयोग से ऑनलाइन व्यवस्था करने जा रही है।

ये उन लोगों के लिए किसी सौगात से कम नहीं है जो देश के बाहर रहने के कारण चारधाम यात्रा नहीं कर पाते हैं।  इसके लिए जिओ एक डिजीटल प्लेटफार्म तैयार कर रहा है। जिसके तहत केदारनाथ,बदरीनाथ,गंगोत्री और यमुनोत्री सहित अन्य धार्मिक स्थलों का दर्शन किया जा सकेगा।

बता दें कि साल 2018 में  इसके लिए जिओ एक डिजीटल प्लेटफार्म तैयार कर रहा है। जिसके तहत केदारनाथ,बदरीनाथ,गंगोत्री और यमुनोत्री सहित अन्य धार्मिक स्थलों का दर्शन किया जा सकेगा। इसके बाद राज्य में जियो ने अपनी  फाइबर कनेक्टीविटी का काम शुरू कर दिया था और यह कार्य करीब 89 फीसद काम पूरा हो चुका है। इस बारे में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि ‘चारधाम और दूसरे प्रमुख मंदिरों के लाइन दर्शन से दुनिया भर के लोग उत्तराखंड की अध्यात्मिकता के बारे में जानेंगे। शारीरिक अस्वस्थता या अन्य दूसरे कारणों से आने में असमर्थ श्रद्धालु, चारधाम का दर्शन कर सकेंगे। मौजूदा वक्त में चार धाम यात्रा के संचालन की जिम्मेदारी सरकार द्वारा निर्मित देवस्थानम विभाग के पास है या पहले की तरह मंदिर समितियां इसे निभाएंगी यह साफ नहीं हो पाया है।

बता दें कि मंगलवार को नैनीताल हाईकोर्ट ने समितियों की तरह से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्य सरकार, केंद्र सरकार और देवस्थानम बोर्ड के नए सीइओ को नोटिस जारी कर इस विषय तीन सप्ताह के भीतर जवाब मांगा है।