शिक्षा के क्षेत्र में किया बड़ा काम, अब देवभूमि की टीचर का राष्ट्रपति करेंगे सम्मान

देहरादून:शिक्षा के क्षेत्र में राज्य का नाम एक बार फिर रोशन हुआ है। यह कामयाबी किसी विद्यार्थियों के नहीं बल्कि शिक्षिका के हाथ लगी है। उत्तराखण्ड के शिक्षक अपनी कार्यशैली ने पूरे देश में नाम कमा रहे हैं और उनकी कार्यशैली विद्यार्थियों को आगें बढ़ने के लिए प्रेरित कर रही है। विकासनगर स्थित हरबर्टपुर स्थित केंद्रीय तिब्बती विद्यालय की शिक्षिका रीता बाली का चयन सीबीएसई अवॉर्ड टू टीचर्स-2018 के लिए हुआ है। यही नहीं इससे पहले शिक्षिका रीता बाली का शिक्षक दिवस पर पांच सितंबर को मिलने वाले नेशनल अवॉर्ड टू टीचर्स के लिए भी हुआ है। अपनी दोनों कामयाबी को लेकर रीता बाली काफी उत्साहित हैं। बता दें कि सीबीएसई अवॉर्ड टू टीचर्स का अवॉर्ड रीता बाली को विज्ञान के क्षेत्र में छात्रों को प्रोत्साहित करने के लिए दिया जाएगा।

max face clinic haldwani

खास बात या है कि पूरे उत्तराखंड से इस पुरस्कार के लिए चयनित होने वाली रीता एक मात्र शिक्षिका हैं। रीता बाली 21 सालों से शिक्षिका के रूप में काम कर रही हैं। इसके अलावा वह स्कॉउट गाइड की प्रभारी भी हैं।वहीं वीडियो कॉफ्रेसिंग के जरिए दूसरे देशों के छात्रों को शिक्षित का काम भी वह करती हैं। रीता बाली ने बताया कि सीबीएसई अवॉर्ड मिलने की सूचना उन्हें सीबीएसई की वेब साइट से मिली है। यह पुरस्कार कब और कहां दिया जाएगा। इसकी जानकारी लेटर के माध्यम से भेजी जाएगी। 

रीता इन दिनों शिक्षक दिवस पर मिलने वाले नेशनल अवॉर्ड टू टीचर्स की तैयारियों में लगी हुई हैं। यह पुरस्कार राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की ओर से प्रदान किया जाएगा। रीता ने बताया कि नेशनल अवॉर्ड के साथ ही सीबीएसई अवॉर्ड मिलने का पूरा श्रेय वह पूर्व प्रधानाचार्य अनिता नरूला को जाता है।



यह भी पढ़ें: 2 हफ्ते बाद दिल्ली में मिला हल्द्वानी का दिव्यांशु, नाराज होकर उठाया था ये कदम

यह भी पढ़ें:आर्यन जुयाल का भारतीय अंडर-23 में चयन, पिता ने कहा बेटे को गोरे से काला होते देखा

यह भी पढ़ें:विजय हजारे ट्रॉफी, शुरू हुई ट्रायल प्रक्रिया, हल्द्वानी में उपलब्ध हुए पंजीकरण फॉर्म

यह पढ़ें:हल्द्वानी: मरीजों की परेशानी का डीएम बंसल ने खोजा तोड़, जारी होगा हेल्पलाइन नंबर

यह भी पढ़ें:खेलों में भी था जेटली का बड़ा मान, सलामी बल्लेबाज को शादी के लिए दिया था अपना घर