पर्यटन से जुड़े कारोबारियों को सरकार ने दिया तोहफा,हाउस टैक्स से राहत मिलेगी

आपकों बता दे की शहरी निकायों द्वारा होटलों से हाउस टैक्स लिया जाता है इस लिए सरकार द्वारा ही हाउस टैक्स में छूट संभव है।

देहरादून: कोरोना के कारण हुए लॉकडाउन से सबसे ज़्यादा नुकसान पर्यटन क्षेत्र को हुआ है। कई लोगों के अपना व्यापार बंद करना पड़ा है। कोरोना वायरस के चलते सरकार ने भी काफी वक्त तक कोई छूट नहीं दी थी। थोड़ी बहुत छूट अनलॉक के लागू होने के बाद दी है लेकिन उसमें भी कई नियम शामिल हैं। पर्यटन क्षेत्र को हुए नुकसान के कारण सरकार ने फैसला किया है इस साल होटल करोबारियों को हाउस टैक्स से राहत दी जाएगी। पिछले चार महीने के हुए नुकसान के कारण होटल कारोबारी हाउस टैक्स में छूट की मांग कर रहे थे।

देश में अनलॉक-2 के बाद भी पर्यटन क्षेत्र में तेज़ी नहीं दिख रही है। प्रदेश में लगभग 3400 होटल है और 20 हज़ार से ज्यादा रेस्टोरेंट व ढाबे पर्यटन विभाग में रजिस्टर्ड है। पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों की यह मांग थी की चार महीने से कारोबार ना होने के कारण उन्हें बहुत नुकसान हुआ है। इस हालत में वो हाउस टैक्स देने की स्थिति में नहीं है। लिहाज़ा उन्हें सरकार द्वारा में कुछ छूट मिलनी चाहिए। आपकों बता दे की शहरी निकायों द्वारा होटलों से हाउस टैक्स लिया जाता है इसलिए सरकार द्वारा ही हाउस टैक्स में छूट संभव है।

बता दें कि कोरोना वायरस के चलते परिवहन व्यवसाय को इस सीजन में सीधे तौर पर 500 करोड़ के आसपास नुकसान हुआ है। पर्टयन को ही उत्तराखंड को अर्थ व्यवस्था की रीड़ माना जाता है। सरकार ने रोजगार हेतु कई योजनाओं को फ्लोर पर लाने का प्लान बनाया था लेकिन कोरोना वायरस के संकट से उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now