हल्द्वानी: हल्द्वानी सोबन सिंह जीना बेस अस्पताल में तैनात डाॅक्टर अमित रौतेला स्थानांतरण पर पौड़ी जिला चिकित्सालय में जाना चाहते हैं। जबकि उनको अभी हल्द्वानी में तैनात हुए एक साल भी नहीं हुआ है। इससे पहले डाॅ. अमित रौतेला जिला चिकित्सालय उत्तरकाशी में तैनात थे। हल्द्वानी बेस अस्पताल में डाॅक्टरों को टोटा है। ऐसे में सवाल यह है कि पहाड़ में सेवा करने के इच्छुक डाॅक्टर किस आधार पर पौड़ी में स्थानांतरण चाह रहे हैं। उन्होंने जो पत्र चिकित्सा निदेशालय को भेजा वह पत्र पौड़ी में डाॅक्टर की तैनाती के लिए आंदोलन शुरू होने के बाद दिया गया।

ये बात ठीक है कि डाॅक्टर पहाड़ पर सेवा देने के लिए तैयार हैं। लेकिन, सवाल इस बात पर खड़े हो रहे हैं कि हल्द्वानी में जिस अस्पताल में वो तैनात हैं। वहां डाॅक्टरों की कमी चल रही है। क्या सरकार उस पद को रिक्त कर उनको पौड़ी भेज सकती है। डाॅक्टर के स्थानांतरण की चर्चाओं के बीच हल्द्वानी में भी लोगों ने विरोध शुरू कर दिया है। लोगों का कहना है कि अगर निदेशालय से डाॅक्टर का स्थानांतरण किया गया, तो आंदोलन किया जाएगा।
दरअसल, बेस अस्पताल हल्द्वानी में एसटीएच होने के बाद भी बहुत व्यस्त अस्पताल है। पहाड़ से लेकर उत्तर प्रदेश से सटे मैदानी इलाकों के लोग भी इस अस्पताल में उपचार के लिए आते हैं। डाॅक्टर के लेटर पर सवाल इसलिए भी उठ रहे हैं कि वो पौड़ी ही क्यों जाना चाहते हैं। पिथौरागढ़, चम्पावत या अल्मोड़ा में भी डाॅक्टरों के पद रिक्त चल रहे हैं। लोगों ने डाॅ. रौतेला को पिथौरागढ़ जिला अस्पताल में भेजने की मांग भी की है। अब देखना यह होगा कि डाॅक्टर रौतेला का स्थानांतरण पौड़ी किया जाता है या फिर उनको जिला अस्पताल पिथौरागढ़ भेजा जाता है।