उत्तराखण्ड: महिला की गला घोंटकर हत्या, पुलिस कार्यवाही के बीच भागा पति

 पिथौरागढ: शहर में एक महिला की गला घोंटकर हत्या करने का मामला सामने आया है। इस घटना ने पूरे जिले में सनसनी मचा दी है। महिला का शव सुनसान गली से बरामद हुआ। शव के मिलने के पास मृतका की बहन की तहरीर पर पुलिस ने आईपीसी की धारा 302 और 201 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। बताया जा रहा है कि पति-पत्नी में विवाद था। पुलिस की शक की सुई पति की ओर है।

खबर के अनुसार मूल रूप से झूणीमलान निवासी हरीश सिंह ट्रक चलाता है। वह पत्नी सुनीता देवी और दो बच्चों के साथ सरस्वती विहार कॉलोनी में किराए के मकान में रहता है। शुक्रवार सुबह को सुनीता देवी (40 वर्ष) का शव कॉलोनी की एक संकरी गली में पड़ा मिला। महिला के गले पर निशान देखे गए हैं। शव के मिलने के बाद कॉलोनी में सनसनी फैल गई। स्थानीय लोगों की सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर आसपास के लोगों से पूछताछ की। शव का चेहरा काला पड़ने से पड़ोसी भी उसे नहीं पहचान सके।

पहचान के लिए पुलिस क्षेत्राधिकारी आरएस रौतेला ने डॉग स्क्वायड  बुलाया गया। इसी दौरान मृतका की पहचान सुनीता देवी पत्नी हरीश सिंह के रूप में हुई। पूछताछ के लिए पुलिस मृतका के घर पहुंची। पूछताछ में बेटी और बेटे की ओर से पुलिस को संतोषजनक जवाब नहीं मिल सका। पुलिस ने जानकारी दी कि जब पंचनामा भरने की कार्यवाही की जा रही थी, तभी मृतका का पति हरीश मौके से गायब हो गया। मृतका की बहन रेनू देवी की तहरीर पर पुलिस ने मामले में आईपीसी की धारा 302 और 201 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

कोतवाल ओम प्रकाश शर्मा जानकारी दी कि महिला की हत्या गला घोंटकर की गई है। उसके गले पर निशान मिले हैं। महिला के पति से पूछताछ की गई थी लेकिन कार्यवाही के बीच वह गायब हो गया। शक की सुई पति पर मुड गई है। उसे हिरासत में लेकर पूछताछ की जाएगी। पुलिस ने यह भी बताया कि सुनीता और उसके पति का अक्सर विवाद होता था।