राज्य के इस बड़े हॉस्पिटल में महिला से छेड़छाड़, विरोध करने पर किया हत्या का प्रयास

309
देहरादून: राज्य में महिला सुरक्षा की बात हर कोई करता है। रात में महिलाओं को बाहर नहीं निकलना चाहिए जैसे विवादित बयान दिए जाते हैं। लेकिन जब महिलाएं हॉस्पिटल के अंदर भी सुरक्षित ना हो तो किस पर सवाल उठाया जाए?
राज्य के सबसे बड़े दून हॉस्पिटल में महिला के साथ छेड़खानी व हत्या के प्रयास का मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि महिला सर्जिकल वार्ड में सो रही थी, इस दौरान एक व्यक्ति ने उसके साथ छेड़छाड़ की कोशिश की। इसके बाद महिला ने शोर मचाया था आरोपी ने गला दबाकर उसे जान से मारने की धमकी। जब तक वहां कोई पहुंचता इससे पहले व्यक्ति वहां से भाग गया। हैरानी तब हुई जब सुबह उठकर महिला व उसके परिजनों ने सारी घटना अस्पताल प्रबंधन को बताई।

उत्तराखण्ड के उत्तरकाशी में भूकंप, घर से बाहर निकले लोग

हालांकि, इस मामले में देर रात तक कोई तहरीर पुलिस को नहीं दी गई है।  जानकारी के मुताबिक साहस्रधारा रोड निवासी एक महिला प्रसव के लिए 23 नवंबर को दून महिला अस्पताल में लाया दया था।इसके बाद 25 नवंबर को ऑपरेशन के बाद प्रसव हुआ, लेकिन अगले दिन उसके बच्चे की मौत हो गई।

रविवार का है मामला

महिला अस्पताल के सर्जिकल वार्ड में भर्ती है। रविवार रात जब वो सो रही थी तब एक व्यक्ति महिला का कंबल खींचने लगा। यह देखकर महिला ने  शोर मचाना चाहा तो व्यक्ति ने उसका गला दबाकर हत्या करने का प्रयास किया और उसे धमकी दी। महिला ने शोर मचाया तो वहां गार्ड पहुंचे, लेकिन उनसे पहले ही व्यक्ति वहां से भाग खड़ा हुआ। सोमवार सुबह महिला के पति ने महिला एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ डॉ चित्रा जोशी को यह बात बताई। इस पर डॉक्टर ने आला अधिकारियों को यह बात बताई। इस मामले में शहर कोतवाल शिशुपाल सिंह नेगी ने बताया कि अभी इस प्रकरण में कोई शिकायत नहीं की गई है।