उत्तराखण्ड के करनवीर ने रचा इतिहास,विजय हजारे में जड़ा दोहरा शतक

हल्द्वानी: उत्तराखण्ड क्रिकेट घरेलू क्रिकेट में आगाज करते ही धमाके कर रहा है। विजय हजारे ट्रॉफी में शानदार प्रदर्शन कर रही टीम रोज कीर्तिमान स्थापित कर रही है। टीम का हर खिलाड़ी अपनी प्रतिभा को देश के सामने रख रहा है। विजय हजारे में उत्तराखण्ड का एक बल्लेबाज रन नहीं आग उगल रहा है।

दोहरा शतक जमाने के बाद उत्तराखण्ड के बेटे करनवीर ने बयां की अपने संघर्ष की कहानी

टीम के सलामी बल्लेबाज करणवीर कौशल ने विजय हजारे में दोहरा शतक जड़ इतिहास रच दिया है। विजय हजारे इतिहास में आजतक कोई भी बल्लेबाज दोहरा शतक बनाने में सफल नहीं हुआ था। करणवीर ने सिक्किम के खिलाफ 135 गेंदों में 202 रनों की पारी खेल सनसनी मचा दी है। विजय हजारे ट्रॉफी की 7वीं पारी में उनका यह तीसरा शतक है। करणवीर कौशल ने अपनी इस पारी में 18 चौके और 9 छक्के जमाए। इससे पहले पोंडिचैरी के खिलाफ 101 और मिजोरम के खिलाफ 118 रनों की पारी खेली थी।

karanveer kaushal uttarakhand cricket team

भारतीय क्रिकेट इतिहास में अभी तक रोहित शर्मा (3 दोहरे शतक ) सचिन तेंदुलकर  और वीरेंद्र सहवाग वनडे क्रिकेट में दोहरा शतक जमाने वाले बल्लेबाज है। वहीं लिस्ट ए क्रिकेट में भारत के शिखर धवन साल 2013 में इंडिया ए की ओर से खेलते हुए साउथ अफ्रीका के खिलाफ 248 रनों की पारी खेल चुके हैं। उत्तराखण्ड के करणवीर कौशल ने इस महान लिस्ट में अपना नाम दर्ज करा लिया है।वहीं  इंग्लैंड के एडी ब्राउन( 268 रन) लिस्ट एक क्रिकेट की एक पारी में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं। दूसरे पायदान में रोहित शर्मा 264 और तीसरे में ऑस्ट्रेलिया के डीजे शॉर्ट 257 रन है। जबकी चौथे स्थान पर शिखर धवन काबिज हैं।

करणवीर कौशल पहले ही मैच से अपनी ताबडतोड़ पारी से लोगों का ध्यान अपनी ओर खींच रहे हैं। उत्तराखण्ड पहली बार घरेलू क्रिकेट में खेल रहा है और इस तरह का प्रदर्शन साफ दिखाता है कि राज्य में प्रतिभा की कमी नहीं है। करणवीर ने अपनी इस पारी से ना सिर्फ उत्तराखण्ड बल्कि पूरे देश के क्रिकेट फैंस को अपना दिवाना बना दिया है। वहीं उनकी इस पारी ने राष्ट्रीय चयनकर्ताओं का ध्यान भी अपनी ओर जरूर खींचा होगा। करणवीर के इतिहास रचने के बाद पूरे क्रिकेट जगत से उन्हें बधाई मिल रही है। उनकी इस धमाकेदार पारी की बदौलत उत्तराखंड की टीम ने सिक्किम के सामने 2 विकेट पर 366 रन का स्कोर खड़ा किया। उनके साथ पारी की शुरुआत करने उतरे दूसरे ओपनर विनीत सक्सेना ने भी शतक जड़ा। इससे पहले इस टूर्नामेंट की सबसे बड़ी पारी का रिकॉर्ड अजिंक्य रहाणे के नाम दर्ज था। रहाणे ने मुंबई की ओर से खेलते हुए महाराष्ट्र के खिलाफ साल 2017-18 में 187 रन की पारी खेली थी।