नैनीताल:कोरोना वायरस को मात देने वाले मरीजों का जीआईएस डाटा बेस तैयार किया जा रहा है। इस बारे में नैनीताल डीएम सविन बंसल ने बताया कि कोरोना पाॅजिटिव मरीजों का इलाज सुशीला तिवारी कोविड चिकित्सालय मे हो रहा है। ठीक होने के बाद ऐसे मरीजों का जीआईएस डाटा बेस तैयार होगा। यह डाटा मुख्य चिकित्साधिकारी तथा सुशीला तिवारी चिकित्सालय प्रबन्धन द्वारा आपस मे शेयर किया जायेगा।

प्रतिदिन स्वास्थ्य लाभ लेने के बाद रिलीव होने वाले लोगो का डाटा प्रतिदिन अपडेट किया जायेगा। डिस्चार्ज होने के दिन एसटीएच प्रबन्धन द्वारा रिलीव होने वाले व्यक्ति से प्लाज्मा डोनेशन का घोषणा पत्र भरवाया जायेगा जिसमें स्वेच्छा से प्लाज्मा डोनेशन की लिखित सहमति सम्बन्धित द्वारा दी जायेगी।

डीएम बंसल ने बताया कि प्लाज्मा थेरेपी के लिए जनपद मे प्लाज्मा बैंक बनाया जायेगा। नैनीताल प्रदेश का पहला जिला होगा जहां प्लाज्मा बैंक होगा तथा आवश्यकतानुसार संक्रमित तथा कोरोना पाॅजिटिव लोगों को थेरेपी हेतु प्लाज्मा उपलब्ध कराया जायेगा। प्लाज्मा डोनर्स के ब्लड ग्रुप के साथ ही उसका मोबाइल नम्बर, पता तथा अन्य सूचनाएं रिकॉर्ड मे रखी जायेगी। ऐसे व्यक्ति को प्लाज्मा वारियर्स के रूम मे पहचान दी जायेगी तथा प्लाज्मा वारियर्स को प्रशासन द्वारा प्रशस्ति पत्र एवं उपहार देकर सम्मानित किया जायेगा।

इसके लिए मुख्य विकास अधिकारी को 2.50 लाख की धनराशि अवमुक्त कर दी है। उन्होंने कहा है कि उनका प्रयास है कि कोविड 19 के दौर मे अधिक से अधिक लोगों को सुरक्षा प्रदान की जाए तथा उनकी बेहतरी के लिए उचित कदम उठाये जांए। प्लाज्मा बैंक इस दिशा मे प्रशासन की एक पहल है।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now