48 घंटे का ऑपरेशन चमोली,CM ने चार लाख के मुआवजे का ऐलान किया

देहरादून: एक बार फिर उत्तराखंड ने आपदा का सामना किया। चमोमी में ग्लेशियर फटने से जो बर्बादी के दृश्य सामने आए उसने साल 2013 में आई आपदा के जख्म हरे कर दिए। देखते ही देखने धौली नदी ने विकराल रूप धारण कर लिया। इस हादसे में सैकड़ों लोग लापता हो गए हैं। वहीं उन्हें खोजने के लिए 48 घंटे का रेस्क्यू चलाया जा रहा है। इस हादसे के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्रेस कॉफ्रेंस की और जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कुल मिलाकर 7 लोगों की मौत हुई है। इस आपदा में 4 पुल टूटे हैं और अब तक 16 लोगों को रेस्क्यू किया गया है।

 सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि सरकार परिवारों को चार चार लाख का मुआवजा देगी। उन्होंने बताया कि पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और बिहार के मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया है। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि कुछ महिलाएं जो घास काटने गई थी वह भी लापता है।

इसके अलावा 180 बकरियों के भी बहने की जानकारी सामने आई हैं।। बकरियों के साथ दो-तीन लोग गए थे वह भी लापता हैं। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत का कहना है कि अभी एक टनल में कुछ लोगों के फंसे होने की सूचना है। राहत और बचाव का काम लगातार जारी है। इस बीच डॉक्टरों की कई टीमें तैयार कर ली गई है। आपदा प्रभावित क्षेत्रों में डॉक्टरों की टीम भेजी जा रही हैं।

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now