हल्द्वानी: डेंगू और चिकनगुनिया जैसी बीमारियों के साथ ही अब ‘स्वाइन फ्लू’ ने उत्तराखण्ड में दस्तक दे दी है। राज्य मेंम  स्वाइन फ्लू के दो महिला मरीज सामने आए हैं। दोनों पीडित महिलाओं को जौलीग्रांट स्थित हिमालयन अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया है।

स्वाइन फ्लू मरीजाें की जानकारी मिलने पर एसीएमओ डॉ. दयाल शरण ने स्वास्थ्य विभाग की टीम साथ हॉस्पिटल पहुंचकर मरीजों की स्थिति के बारे में जानकारी ली।

स्वास्थ्य सचिव नीतेश कुमार झा ने सभी सीएमओ को निर्देशित किया है कि वे डेंगू, चिकनगुनिया और स्वाइन फ्लू बीमारी रोकने को लेकर हर संभव कदम उठाएं।

स्वास्थ्य विभाग के एसीएमओ डॉ. दयाल शरण के अनुसार स्वाइन फ्लू के मरीजों में एक महिला मरीज देहरादून और दूसरी महिला हरिद्वार की रहने वाली है।

दोनों महिला मरीजों को पहले स्थानीय अस्पतालों में भर्ती कराया गया जहां हालात बिगड़ने के बाद उन्हे  जौलीग्रांट स्थित हिमालयन अस्पताल में रेफर कर दिया गया।दोनों कोआईसीयू में रखा गया है और विशेषज्ञों की टीम उनका इलाज कर रही है। एस्वाइन फ्लू  की आशंका पर दोनों महिला

मरीजों के खून के नमूने जांच के लिए दिल्ली स्थित नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल (एनसीडीसी) भेजे गए थे। और वहां जांच में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई। इस मामले के सामने आने बाद  स्वास्थ्य महकमे में हड़कंप मच गया है।

सचिव चिकित्सा और स्वास्थ्य महानिदेशक ने सभी सीएमओ को निर्देशित किया है कि स्वाइन फ्लू बीमारी से निपटने को लेकर हर संभव कदम उठाए जाएं।