वकालत में नाम रोशन करने वाले बेटे ने फिर बढ़ाया देवभूमि का नाम, पूर्व न्यायधीश ने की तारीफ

103

नई दिल्ली:29 जनवरी 2019 की वर्ल्ड इंटीग्रिटी सेंटर देहरादून में शहर के प्रख्यात अधिवक्ता अजर रब द्वारा लिखित पुस्तक रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवलपमेंट एक्ट 2016 प्रैक्टिशनर्स गाइड का विमोचन किया गया। इस समारोह के मुख्य अतिथि के रूप में उच्च न्यायालय उत्तराखंड के पूर्व न्यायाधीश यूसी ध्यानी, डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस उत्तराखंड की अनिल रतूड़ी एडिशनल चीफ सेक्रेटरी उत्तराखंड राधा रतूड़ी चेयरमैन रेरा उत्तराखंड, विष्णु कुमार तथा अन्य सम्मानित व्यक्तिगण मौजूद थे। उत्तराखंड के बेटे अजर रब ने देश ही नहीं दुनिया में अपनी वकालत का झंडा बुलंद किया है। बता दें अजर सबसे कम उम्र के इंटरनेशनल आर्बिट्रेटर बने थे।

न्यायाधीश यूसी ध्यानी द्वारा अधिवक्ता अजर रब को उनकी हाल ही में प्रकाशित हुई पुस्तक रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवलपमेंट गाइड के लिए अभिनंदन करते हुए कहा गया कि उत्तराखंड में पहली बार रियल स्टेट के क्षेत्र में उत्तराखंड के निवासी द्वारा पुस्तक लिखी गई जिसका विमोचन की राजधानी देहरादून में किया गया । उन्होंने लेखक द्वारा की गई मेहनत करते हुए पुस्तक का रियल स्टेट के क्षेत्र में योगदान और मौजूदा अधिनियम के प्रावधानों पर संक्षिप्त में प्रकाश डालते हुए सभा को संबोधित किया। इस मौके पर डायरेक्टर जनरल ऑफ पुलिस को बधाई देते हुए अपनी खुशी खुले दिल से जाहिर की रियल स्टेट के क्षेत्र को नियंत्रित करने के लिए नियम लागू हुआ जो कि पहला अधिनियम होने के कारण इसे समझने तथा इसका अनुपालन करने में कठिनाइयों का आना स्वाभाविक है।

न्याय शास्त्र तथा अधिकरण के अभाव के कारण रियल स्टेट को अमल में लाना एक चुनौतीपूर्ण कार्य क्षेत्र में हो रही वर्तमान धोखाधड़ी को नियंत्रित करने के लिए लागू हुए तथा पालन करने में आप द्वारा लिखी गई पुस्तक का भविष्य में अहम योगदान होगा। अधिवक्ता द्वारा लिखी पुस्तक आने के पश्चात रियल स्टेट को परिभाषित करना स्वाभाविक है। इस पुस्तक के माध्यम से लेखक में निपुण हो गया है क्योंकि लेखक बिल्डरों द्वारा उपभोक्ताओं को अपने अधिकारों को सुरक्षित करने के लिए जागरूक कर रहे हैं।

 

इस पुस्तक के लिए लेखक के साहसिक कार्य को समझना कुछ मायनों में कठिन है।उत्तराखंड में कानूनी दिग्गजों के परिवार से आते हैं उनके पिता अतुल रब प्रतिष्ठित वरिष्ठ अधिवक्ता है और उनकी मां अर्चना जिनकी 40 वर्ष की वकालत कानूनी समुदाय के लिए सेवा के प्रतीक हैं। अरब वर्तमान में अरब एंड एसोसिएट एलपीसी में भागीदार हैं। प्रमुख रूप से दीवानी वाद मध्य शतक और ट्रांजैक्शन के क्षेत्रों में कार्य करते हैं ।उन्होंने सेंट जॉर्ज कॉलेज मसूरी में अपनी तालीम हासिल की है, जिसके पश्चात भारत के प्रख्यात कॉलेज नेशनल लॉ स्कूल एंड इंडियन यूनिवर्सिटी से बीएएलएलबी की डिग्री हासिल की डिग्री हासिल की।