क्रिकेट के मैदान आ गई खुशखबरी,कर्नाटक प्रीमियर लीग में हल्द्वानी का दीक्षांशु नेगी करेगा कमाल

296

हल्द्वानी: क्रिकेट के मैदान से देवभूमि उत्तराखण्ड के लिए अच्छी खबर आ रही है। जिस लीग में भारत के लिए खेलने वाले खिलाड़ी खेलते है वहां हल्द्वानी शहर का दीक्षांशु नेगी खेलगा। दिक्षांशु देश की बड़ी लीगों में से एक कर्नाटका प्रीमियर लीग में खेलेंगे। उन्हें साल 2018-2019 सीजन के लिए बलागवी पेंथर्स ने अपनी टीम में चार लाख दस हजार रुपए में खरीदा है। दीक्षांशु नेगी पिछले 4 साल से केपीएल खेल रहे हैं। इससे पहले वो  Bijapur Bulls और Hubli Tigers की टीम का हिस्सा बन चुके हैं। बलागवी पेंथर्स की टीम में भारतीय टीम के वनडे टीम के सदस्य मनीष पांडे और स्टुअर्ट बिन्नी भी है। इस खबर के सामने आने के बाद दीक्षांशु नेगी को पूरे राज्य से शुभकामनाएं जा रही है।

हल्द्वानी लांठलाठ निवासी विजय पाल नेगी के बेटे व मधु नेगी के बेटे दीक्षांशु शहर के उन खिलाड़ियों में से है जिन्होंने हर प्रतियोगिता में अपनी छाप छोड़ी है। राज्य को क्रिकेट मान्यता ना मिलने से दीक्षांशु ने बेंगलूरू का रुख किया और वहां अपने क्रिकेटर बनाने के सपने को जिया। किसी भी खिलाड़ी के लिए दूसरे स्टेट से आकर पहचान बनाना मुश्किल होता है लेकिन हल्द्वानी के बेटे ने अपने हुनर से उसे कर दिखाया।

Image may contain: 1 person

दीक्षांशु नेगी केवल बल्ले से ही नहीं बल्कि गेंदबाजी से भी विपक्षियों के लिए मुसीबत खड़ी करते हैं। केपीएल के 7वें सीजन के लिए पूरे शहर को दिक्षांशु से काफी उम्मीदे हैं। अपने चयन के बाद दिक्षांशु ने खुशी जाहिर की हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह की लीग खिलाड़ियों के अंदर खेल को जीवित रखती हैं जो जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि उनकी पूरी कोशिश रहेगी कि वो अपनी टीम के लिए हर क्षेत्र में योगदान दे।

Image may contain: 1 person, hat

सीनियर खिलाड़ियों के साथ खेले जाने के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि इंडिया प्लेयर के साथ खेलना हर वक्त एक अच्छा अनुभव होता है, इससे काफी कुछ सिखने को मिलता है और मेरी कोशिश रहती है कि मैं सीखू और गेम में उसे अप्लाई करूं।दीक्षांशु  के चयन के बाद हल्द्वानी में सालों से कोचिंग दे रहे दान सिंह कन्याल , दान सिंह भंडारी,महेंद्र सिंह बिष्ट व इंडर जैठा ने बधाई दी हैं। उन्होंने कहा कि दिक्षांशु ने अपने क्रिकेट खेलने की भूख को कभी मरने नहीं दिया और तभी वो इस मुकाम पर हैं।