उत्तरकाशी: नाबालिग के साथ दुष्कर्म और हत्या मामले में सामने आई चौकानी वाली बात

1071
देहरादून: जो राज्य अपनी शांति के लिए पूरे भारत व विदेशों में विख्यात था, वहां अब बेटियों की सुरक्षा पर दरिदों की नजर लग गई है। उत्तराखण्ड लगातार दरिंदों के दर्द का सामना कर रहा है। अब शुक्रवार को 14 वर्षीय युवती का अपहरण कर उसके साथ कुकर्म को अंजाम दिया गया। इस वारदात ने पूरे राज्य को हिला कर रख दिया है। आरोपियों ने हवस मिटाने के बाद नाबालिग की हत्या कर दी।
Image result for उत्तरकाशी रेप
घटना उत्तरकाशी के डुंडा ब्लॉक क्षेत्र की है।  शुक्रवार रात कुछ अज्ञात हैवानों ने एक नाबालिग से सामूहिक दुष्कर्म कर उसकी हत्या कर दी। नाबालिग की लाश दिल दहला देने वाली हालत में शनिवार तड़के एक मोटर पुल के पास पड़ी मिली। खबर के सामने आने के बाद आस-पास के इलाके में आक्रोश फैल गया। गांव वालों ने  पुल पर ही लाश के पास जाम लगाकर धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया। गांव की मानें तो वारदात अंजाम देने वाले बिहार मूल के कुछ मजदूर थे, जो लंबे समय से क्षेत्र के ही एक बीएड कालेज में मजदूरी कर रहे थे। सबसे चौकाने वाली बात ये सामने आ रही है कि आरोपियों ने बच्ची के साथ दुष्कर्म करने की प्लानिंग पहले से बनाई थी। उन्होंने वारदात को अंजाम देने के लिए नाबालिग के घर की बित्ती काट दी। वारदात के वक्त वह अपने घर में सो रही थी। घटना के वक्त पीड़िता की बड़ी बहन रिश्तेदारी में गई हुई थी। घर में केवल माता-पिता थे। मां मानसिक रूप से कमजोर है, जबकि पिता को सुनाई नहीं देता। जिससे घर में अज्ञात लोगों के आने और बालिका को उठा ले जाने की उनको भनक तक नहीं लग पाई।
Related image
इस तनाव को गंभीरता से लेते हुए प्रशासन ने पहाड़ के पांच जिलों में इंटरनेट सेवाएं बंद करवा दी। क्षेत्रीय विधायक, डीएम और एसपी मौके पर पहुंच गए। बड़े पैमाने पर पुलिस बल को मौके पर तैनात कर दिया गया। संदेह के आधार पर पुलिस ने टिहरी जिले के थत्यूड़ और कैंपटी में कुछ संदिग्ध लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे घटना के संबंध में पूछताछ की जा रही है।