नैनीताल हाईकोर्ट के जज के घर में हुई लूट, नौकरानी की बेटी बनी मास्टरमाइंड

914

हल्द्वानी: भरोसे का अंजाम अब धोखे के रूप में ही सामने आ रहा है। रुड़की में नैनीताल हाईकोर्ट के जज के घर हुई लूट का खुलासा पुलिस ने कर दिया है।नैनीताल हाईकोर्ट के जज आलोक सिंह के घर हुई लूटपाट के मामले में पुलिस ने नौकरानी की बेटी और उसके एक दोस्त को गिरफ्तार कर लिया है। लूट का सामान बरामद कर पुलिस ने दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया है।

रविवार की है घटना

खबर के मुताबिक गंगनहर कोतवाली क्षेत्र स्थित साकेत कॉलोनी में नैनीताल हाईकोर्ट में जज आलोक सिंह का घर है।  उनके भाई सिद्धार्थ सिंह भी हाईकोर्ट में अधिवक्ता हैं। साकेत कॉलोनी में उनकी मां सरस्वती देवी नीचे के फ्लोर पर रहती हैं, जबकि दूसरे तल पर किराएदार रहते हैं। रविवार सुबह रोजाना की तरह नौकरानी मोना घर का काम करने पहुंची थी। घर का गेट खुला देख करीब 11 बजे एक युवक घर के अंदर घुसा। युवक ने मेज पर रखा पर्स, मोबाइल, कान का एक सोने का टॉप्स व अलमारी की चाबी उठा ली।

लूट के बाद जज की मां को अस्पताल में भर्ती किया गया

युवक को देख बुजुर्ग सरस्वती देवी ने विरोध किया और शोर मचा दिया। बुजुर्ग की चिल्लाने की आवाज सुन  नौकरानी मीना मौके पर पहुंची तो युवक ने जज की मां को धक्का दे दिया और नौकरानी से मारपीट को अंदाज दे दिया। इसके बाद वो मौके से सारा समान लेकर फरार हो गया। घर  में शोर सुन मौके पर पड़ोसी इकठ्ठा हो गए और घटना की जानकारी पुलिस को दी। जज के घर दिनदहाड़े लूट की सूचना से पुलिस में हड़कंप मच गया। आनन-फानन में गंगनहर कोतवाली पुलिस व सीआईयू की टीम मौके पर पहुंची और पुलिस अधिकारियों को जानकारी दी।

पुलिस की जांच

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने बिना देरी करते हुए लूट की जांच शुरू कर दी। पुलिस को प्रथम दृष्टि से किसी जान पहचान वाले पर शक हो रहा था। पुलिस ने इसके लिए कई लोगों के बयान दर्ज किए। नौकरानी की बेटी से सख्ती से पूछताछ की तो उसने सब सच उगल दिया। सोमवार को गंगनहर कोतवाली में एसपी देहात मणिकांत मिश्रा और सीओ एसके सिंह ने प्रेसवार्ता कर साकेत कॉलोनी स्थित जज के घर हुई लूट का खुलासा कर दिया है। पुलिस को नौकारनी की बेटी ने बताया कि  दो माह से सहारनपुर निवासी सोनू उनके घर के पास ही रह रहा था।  वहा उसका ससुराल था। इस दौरान दोनों की अच्छी दोस्ती हो गई। दोनों को पहले से पता था कि जज की मां घर पर अकेली रहती है। उनके घर में काफी पैसा होगा जानकर दोनों लालच में आ गए और लूट का प्लान बनाया।  रविवार को मोबाइल पर सोनू को सूचना दी कि सरस्वती देवी घर में अकेली है। आरोपी युवती ने घर के बाहर की नाली साफ करने के बहाने जज के घर का मुख्य गेट खोल दिया। गेट खुला होने पर सोनू तुरंत अंदर घुसा और घटना को अंजाम दे डाला। एसपी देहात ने बताया कि आरोपी सोनू को पकड़ने के लिए पुलिस और सीआईयू टीम ने योजना बनाई। उसके बाद मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने आरोपी सोनू को ईदगाह रोड के पास से गिरफ्तार कर लूटा सामान बरामद किया और जेल भेज दिया।