हल्द्वानी:उत्तरकाशी में 12 साल की बच्ची के साथ रेप और उसकी हत्या करने वाले मुकेश लाल उर्फ़ बंटी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. लम्बी पूछताछ के बाद आरोपी ने अपना गुनाह कबूल किया . पुलिस ने मुकेश के खिलाफ बलात्कार ,हत्या और पोक्सो एक्ट में मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया है . उत्तरकाशी में आज डीआईजी गढ़वाल अजय रौतेला ने इस वारदात का खुलासा किया.

मुकेश पिछले कुछ साल से इसी इलाके में रहकर खच्चर चलाने के काम करता है और पीड़ित परिवार को पहले से ही जानता रहा है. लम्बे समय से इसकी नज़र पीड़िता की बड़ी बहन पर थी. लेकिन जब वो १७ अगस्त को घटना वाली रात घर पर नहीं थी तो बंटी उसकी छोटी बहन को ही उठा कर ले गया. उसने 12 साल की बच्ची के साथ बलात्कार किया फिर उसे मौत के घात उतार दिया.

शव को ठिकाने लगाने के लिए उसने पूरी कोशिश की मगर अत्यधिक नशे में होने और रात को करीब ढाई बजे वाहनों की आवाजाही होने पर वो ऐसा नहीं कर पाया और मृतक का शव छोड़कर भाग गया. यही नहीं पूरी चालाकी से उसने अपने पहने हुए कपडे भी बदल दिए. साथ ही वारदात को अंजाम देते हुए जो कपड़े उसने पहने थे उन्हें भी धो दिया ताकि जांच में खून के धब्बे पकड़ में न आये.

यही नहीं पुलिस को गुमराह करने लिए बंटी ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन में भी शामिल हो गया था. पुलिस की जांच को भटकाने के लिए मुकेश ने ही 4 ऐसे लोगों की तरफ शक किया जो मूल रूप से उत्तराखंड के रहने वाले भी नहीं थे.

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार के मुताबिक़ “पुलिस ने पहले ४ लोगों को ही हिरासत में लेकर पूछताछ की मगर उन्हें कोई सुराग हाथ नहीं लगा. बाद में शक होने पर पुलिस ने कई ग्रामीणों से पूछताछ की”.

इस बीच पूरे उत्तरकाशी सहित गढ़वाल के कई इलाकों में विरोध प्रदर्शन होने लगे. इससे पुलिस पर इस केस को जल्द सुलझाने का दबाव बढ़ गया. डीआईजी गढ़वाल अजय रौतेला और आईजी संजय गुंज्याल को उत्तरकाशी रवाना किया गया.

इन दोनों अधिकारीयों ने स्थानीय लोगों के विरोध प्रदर्शन को शांत कर जांच की. डीआईजी गढ़वाल अजय रौतेला बताया कि “आरोपी को देवीधार इलाके से हिरासत में लिया गया. पुलिस हिरासत में उसने पूछताछ के दौरान बताया की शुक्रवार रात को वो मृतक की बड़ी बहन को उठाने के इरादे से उसके घर गया लेकिन जब वो नहीं मिली तो उसकी छोटी बहन को ही उठा लाया ” .

पुलिस ने मुकेश के खिलाफ पर्याप्त सबूत इकट्ठे कर लिए हैं. उसके खून के नमूने और सीमन को भी फोरेंसिक जांच के लिए देहरादून की लैब में भेजा जा चुका है. पुलिस इस मामले में १ महीने में चार्जशीट दाखिल करेगी. फिलहाल उत्तरकाशी में माहौल शांत तो हुआ है लेकिन इस घटना के बाद लोगों में अभी भी दहशत का माहौल है.