उत्तराखण्ड में एक और हादसा, लोगों के लिए राहत सामग्री ले जा रहा हैलीकॉप्टर क्रैश

हल्द्वानी:बारिश के चलते उत्तराखण्ड में परेशानियां कम होने का नाम नहीं ले रही है। बारिश के कारण कई घर बेघर हो गए हैं और कई लोगों की जान भी चले गई है। उत्तरकाशी में बादल फटने के बाद सामने आई तस्वीरों ने सभी को झंझोर कर रख दिया। बादल फटने के बाद परेशानी से जूझ रहे लोगों के लिए राहत सामग्री ले जा रहा है हैलीकॉप्टर क्रैश हो गया। खबर के अनुसार हादसा बुधवार को हुआ। बताया जा रहा है कि हैलीकॉप्टर में एक पायलट, एक सह पायलट और एक स्थानीय निवासी सवार था। शुरुआती जानकारी के मुताबिक तीनों की मौत हो गई है। इस पूरा हादसे पर सीएम त्रिवेंद्र रावत ने दुख जताया है और मृतकों के परिजनों को 15 लाख रुपए की राहत राशि देने की बात कही है।

max face clinic haldwani

राहत और बचाव में लगा हेलिकॉप्टर उत्तरकाशी जिले में मोरी से मोल्दी की ओर जा रहा था। हेलिकॉप्टर में तीन लोग सवार थे। बता दें, बाढ़ और भूस्खलन के कारण उत्तराखंड में भारी नुकसान हो रहा है। यहां के आठ जिलों में त्राहि त्राहि मची है। कई जगह बादल फटने के बाद कोहराम मचा हुआ है तो कई जगह भूस्खलन से पहाड़ टूट कर सड़कों पर गिर रहे हैं। उत्तरकाशी के मोरी क्षेत्र में रविवार को बादल फट गया था। इस हादसे में 17 लोगों की मौत हो गई। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है।

भारत की नीली जर्सी पहनेगा हल्द्वानी का आर्यन जुयाल

आपदा प्रबंधन के सचिव एस ए मुरुगेसन के अनुसार उत्तरकाशी के मोरी तहसील में बादल फटने से 17 लोगों की मौत हो गई। राहत और बचाव कार्य चल रहा है. इससे पहले सोमवार को वित्त सचिव अमित नेगी, महानिरीक्षक (आईजी) संजय गुंज्याल और उत्तरकाशी के जिला मजिस्ट्रेट (डीएम) आशीष चौहान ने अरकोट में हालात का जायजा लिया।