हल्द्वानी के विमल भट्ट बनें SSB में असिस्टेंट कमांडेंट,देश में हासिल की थी 17वीं रैंक

हल्द्वानी: शहर के नाम एक और कामयाबी जुड़ गई है। ग्रामसभा पनियाली में रहने वाले विमल भट्ट पुत्र मोहन चंद्र भट्ट का सशस्त्र सीमा बल में असिस्टेंट कमांडेंट(सहायक कमांडेंट) के पद पर चयन हुआ है। उनके चयन के पास क्षेत्र में खुशी का माहौल है। सोमवार को हुई पासिंग आउट परेड में विमल ने भाग लिया और उन्हें तैनाती मिली। मूल रूप से गंगोलीहाट के रहने वाले विमल ने स्कूली शिक्षा हल्द्वानी के The Masters School से हासिल की। वह पढ़ाई में अव्वल थे।

साल 2013 में उन्होंने द्वाराहाट इंजीनियरिंग कॉलेज में एडमिशन लिया। विमल हमेशा से भारतीय सेना में शामिल होना चाहते थे और उन्हें बीटेक के दौरान तैयारी भी शुरू कर दी थी। उनके पिता का शटरिंग का कारोबार है और मां रमा भट्ट हाउस वाइफ हैं। विमल ने साल 2018 में Upsc capf की परीक्षा दी थी, जिसके नतीजे 2019 में आए थे। उन्होंने देश में 17वीं रैंक हासिल की थी। उन्होंने अपनी कामयाबी का श्रेय माता-पिता और गुरुजनों को दिया है।

बता दें कि भोपाल में आयोजित हुई पासिंग परेड में सहायक कमांडेंट (प्रशिक्षु) संदीप आर्य को सर्वोत्कृष्ट प्रशिक्षु होने के लिए ‘सॉर्ड ऑफ ऑनर’ से सम्मानित किया गया। सशस्त्र सीमा बल (एसएसबी) के महानिदेशक कुमार राजेश चन्द्रा ने कहा कि नेपाल और भूटान जैसे मित्र राष्ट्रों के साथ खुली सीमाओं के प्रबंधन की चुनौतियों पर प्रकाश डाला और कहा कि इसमें केवल बल की तुलना में आसूचना और धारणा प्रबंधन जैसे विभिन्न कौशल की आवश्यकता होती है। चन्द्रा ने सभी 37 प्रशिक्षु अधिकारियों को भारतीय संविधान को साक्षी मान, शपथ दिलाकर राष्ट्र सेवा में समर्पित किया। इन अधिकारियों को एसएसबी अकादमी भोपाल में 52 सप्ताह का कठोर प्रशिक्षण दिया गया है। 

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now