खबरदार: अब गाड़ियों से स्टंट करने वालों की खैर नहीं, उत्तराखंड पुलिस शुरू करेगी विशेष अभियान

हल्द्वानी: प्रदेश भर में रैश ड्राइविंग करने वालों की खैर नहीं होगी। जो कोई भी रैश ड्राइविंग या स्टंट करते हुए पाया जाएगा, उसके खिलाफ पुलिस द्वारा कड़ी कार्यवाही की जाएगी। सोमवार से पुलिस द्वारा प्रदेश भर के जिलों में एक विशेष अभियान चलाया जाएगा। जिसके अंतर्गत अगर कोई भी युवक अपनी बाइक या कार से रैश ड्राइविंग या स्टंट करता हुआ नजर आएगा तो पुलिस उसका भारी चालान काटेगी।

पिछले कुछ समय से पुलिस उत्तराखंड में यातायात नियमों को लेकर काफी सक्रिय हो गई है। लगातार यातायात नियमों के लिए अलग-अलग अभियान चलाए जा रहे हैं। इसी कड़ी में सोमवार से एक विशेष अभियान चलाया जाना है। यह अभियान प्रदेश के हर जिले में चलाया जाएगा। इसमें पुलिस के ट्रेफिक आई एप पर कोई भी व्यक्ति रैश ड्राइविंग और स्टंट करने वाले युवकों की वीडियो अपलोड कर सकता है। इस वीडियो के आधार पर ही पुलिस उक्त लोगों के खिलाफ कार्यवाही करेगी।

यह भी पढ़े: नए साल में सैलानियों की भीड़ से खुश नैनीताल, मगर जाम से थक गईं सरोवर नगरी की सड़कें

यह भी पढ़े: कुमाऊं के हर जिले में बनेंगे बालमित्र थाने, स्पेशल काउंसलिंग से सुधारे जाएंगे नाबालिग

आपको बता दें कि 17 दिसंबर से 1 जनवरी तक राज्य के सभी जिलों में एक और विशेष अभियान चलाया गया था जो कि यातायात निदेशक केवल खुराना के निर्देश पर संचालित हुआ था। इस अभियान में उन वाहनों का चालान हुआ जिन्होंने राजनीतिक, धार्मिक व जातियों की नेम प्लेट लगा रखी थी। जानकारी के अनुसार, पुलिस ने 6488 वाहन चालकों का चालान किया और इनसे 31 लाख रुपए का जुर्माना वसूला।

इन 6488 वाहन चालकों में बड़ी तादाद में विभिन्न राजनीतिक दलों के नेता भी थे। जिन्होंने अपने निजी वाहनों पर अपने पदनाम की प्लेट लगा रखी थी। जो कि मोटर वाहन अधिनियम का उल्लंघन है। बता दें कि सबसे ज्यादा नैनीताल में 1551, टिहरी में 1520 और हरिद्वार जिले में 1329 चालान हुए। जबकि देहरादून में सिर्फ 596 वाहनों के ही चालान हुए। इसके अलावा बागेश्वर सिर्फ एक ऐसा जिला था, जहां इस अभियान में कोई भी अधिनियम का उल्लंघन करते हुए नहीं पाया गया।

यह भी पढ़े: हल्द्वानी:अमित हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा,हत्या करने के बाद आरोपी अंतिम संस्कार में भी गया

यह भी पढ़े: हल्द्वानी के हिमालय विद्या मंदिर को CBSE से मिला ‘A’ श्रेणी का प्रमाण पत्र

बहरहाल 17 दिसंबर से 1 जनवरी तक चलने वाले इस अभियान में भी पुलिस ने ऐसे वाहन चालकों के खिलाफ भी कार्यवाही की जो कि रैश ड्राइविंग और स्टंट करते हुए पकड़े गए। इस कड़ी में पुलिस ने 2756 वाहनों के चालान किए। जबकि 211 वाहन सीज किए। इस एवज में इनसे लगभग साढ़े सात लाख का जुर्माना भी वसूला गया।

यातायात निदेशक केवल खुराना ने जानकारी दी और बताया कि कोई भी व्यक्ति रैश ड्राइविंग और स्टंट करने वालों की वीडियो ट्रेफिक आई एप पर अपलोड कर सकता है। उसे देखने के बाद ही पुलिस उक्त लोगों के खिलाफ कार्यवाही करेगी। जरूरत पड़ने पर उनके चालान भी किए जाएंगे और उनके वाहन को सीज भी किया जाएगा।

यह भी पढ़े: उत्तराखंड का घोड़ाखाल सैनिक स्कूल बना देश का नंबर वन सैनिक स्कूल

यह भी पढ़े: बागेश्वर के दीपक परिहार बनेंगे वायुसेना में पायलट, पिता बोले, मेरे बेटे का सपना साकार हुआ

Join WhatsApp Group & Facebook Page

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा WhatsApp Group ज्वाइन करें।
Join Now

उत्तराखंड की ताजा खबरें मोबाइल पर प्राप्त करने के लिए अभी हमारा Facebook Page लाइक करें।
Like Now